माहौल देखकर दलबदल करने वाले नेता किसका फायदा करायेंगे ?

मानी जाऔरैया- बीते दिनों जनपद के एक नेता जी ने पार्टी बदल ली और नयी पार्टी में ज्वाइन हो गये लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या वो नयी पार्टी में सियासी फायदा लेने आये हैं या नई पार्टी को सियासी फायदा देने आये हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी कुछ दिनों पहले पूर्व विधायक मदन लाल गौतम की गुमसुदगी के पर्चे नगर में लगाये गये थे। उन्होने अभी हाल ही में बीजेपी का दामन थाम लिया था। लेकिन सवाल वही है कि आखिर चुनावी वैतरणी पार के लिये बीजेपी में आये विधायक जी पार्टी को कितना फायदा पहुँचा पायेगें। आपको बताते चलें कि विधायक जी की कुछ इमारतें भी अवैध बताकर गिरा दी गयी थीं, तो लोग पूँछ रहे हैं कि ये दलबदल कहीं ये डर का तो नतीजा नहीं रही बीते दिनों जनपद के एक नेता जी ने पार्टी बदल ली और नयी पार्टी में ज्वाइन हो गये लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या वो नयी पार्टी में सिऔरैया- बीते दिनों जनपद के एक नेता जी ने पार्टी बदल ली और नयी पार्टी में ज्वाइन हो गये लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या वो नयी पार्टी में सियासी फायदा लेने आये हैं या नई पार्टी को सियासी फायदा देने आये हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी कुछ दिनों पहले पूर्व विधायक मदन लाल गौतम की गुमसुदगी के पर्चे नगर में लगाये गये थे। उन्होने अभी हाल ही में बीजेपी का दामन थाम लिया था। लेकिन सवाल वही है कि आखिर चुनावी वैतरणी पार के लिये बीजेपी में आये विधायक जी पार्टी को कितना फायदा पहुँचा पायेगें। आपको बताते चलें कि विधायक जी की कुछ इमारतें भी अवैध बताकर गिरा दी गयी थीं, तो लोग पूँछ रहे हैं कि ये दलबदल कहीं ये डर का तो नतीजा नहींयासी फायदा लेने आये हैं या नई पार्टी को सियासी फायदा देने आये हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी कुछ दिनों पहले पूर्व विधायक मदन लाल गौतम की गुमसुदगी के पर्चे नगर में लगाये गये थे।
औरैया- बीते दिनों जनपद के एक नेता जी ने पार्टी बदल ली और नयी पार्टी में ज्वाइन हो गये लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या वो नयी पार्टी में सियासी फायदा लेने आये हैं या नई पार्टी को सियासी फायदा देने आये हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी कुछ दिनों पहले पूर्व विधायक मदन लाल गौतम की गुमसुदगी के पर्चे नगर में लगाये गये थे। उन्होने अभी हाल ही में बीजेपी का दामन थाम लिया था। लेकिन सवाल वही है कि आखिर चुनावी वैतरणी पार के लिये बीजेपी में आये विधायक जी पार्टी को कितना फायदा पहुँचा पायेगें। आपको बताते चलें कि विधायक जी की कुछ इमारतें भी अवैध बताकर गिरा दी गयी थीं, तो लोग पूँछ रहे हैं कि ये दलबदल कहीं ये डर का तो नतीजा नहीं
भी हाल ही में बीजेपी का दामन थाम लिया था। लेकिन सवाल वही है कि आखिर चुनावी वैतरणी पार के लिये बीजेपी में आये विधायक जी पार्टी को कितना फायदा पहुँचा पायेगें। आपको बताते चलें कि विधायक जी की कुछ इमारतें भी अवैध बताकर गिरा दी गयी बीते दिनों जनपद के एक नेता जी ने पार्टी बदल ली और नयी पार्टी में ज्वाइन हो गये लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या वो नयी पार्टी में सियासी फा
औरैया- बीते दिनों जनपद के एक नेता जी ने पार्टी बदल ली और नयी पार्टी में ज्वाइन हो गये लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या वो नयी पार्टी में सियासी फायदा लेने आये हैं या नई पार्टी को सियासी फायदा देने आये हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी कुछ दिनों पहले पूर्व विधायक मदन लाल गौतम की गुमसुदगी के पर्चे नगर में लगाये गये थे। उन्होने अभी हाल ही में बीजेपी का दामन थाम लिया था। लेकिन सवाल वही है कि आखिर चुनावी वैतरणी पार के लिये बीजेपी में आये विधायक जी पार्टी को कितना फायदा पहुँचा पायेगें। आपको बताते चलें कि विधायक जी की कुछ इमारतें भी अवैध बताकर गिरा दी गयी थीं, तो लोग पूँछ रहे हैं कि ये दलबदल कहीं ये डर का तो नतीजा नहीं

औरैया- बीते दिनों जनपद के एक नेता जी ने पार्टी बदल ली और नयी पार्टी में ज्वाइन हो गये लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या वो नयी पार्टी में सियासी फायदा लेने आये हैं या नई पार्टी को सियासी फायदा देने आये हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी कुछ दिनों पहले पूर्व विधायक मदन लाल गौतम की गुमसुदगी के पर्चे नगर में लगाये गये थे। उन्होने अभी हाल ही में बीजेपी का दामन थाम लिया था। लेकिन सवाल वही है कि आखिर चुनावी वैतरणी पार के लिये बीजेपी में आये विधायक जी पार्टी को कितना फायदा पहुँचा पायेगें। आपको बताते चलें कि विधायक जी की कुछ इमारतें भी अवैध बताकर गिरा दी गयी थीं, तो लोग पूँछ रहे हैं कि ये दलबदल कहीं ये डर का तो नतीजा नहीं

औरैया- बीते दिनों जनपद के एक नेता जी ने पार्टी बदल ली और नयी पार्टी में ज्वाइन हो गये लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या वो नयी पार्टी में सियासी फायदा लेने आये हैं या नई पार्टी को सियासी फायदा देने आये हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी कुछ दिनों पहले पूर्व विधायक मदन लाल गौतम की गुमसुदगी के पर्चे नगर में लगाये गये थे। उन्होने अभी हाल ही में बीजेपी का दामन थाम लिया था। लेकिन सवाल वही है कि आखिर चुनावी वैतरणी पार के लिये बीजेपी में आये विधायक जी पार्टी को कितना फायदा पहुँचा पायेगें। आपको बताते चलें कि विधायक जी की कुछ इमारतें भी अवैध बताकर गिरा दी गयी थीं, तो लोग पूँछ रहे हैं कि ये दलबदल कहीं ये डर का तो नतीजा नहीं

औरैया- बीते दिनों जनपद के एक नेता जी ने पार्टी बदल ली और नयी पार्टी में ज्वाइन हो गये लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या वो नयी पार्टी में सियासी फायदा लेने आये हैं या नई पार्टी को सियासी फायदा देने आये हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी कुछ दिनों पहले पूर्व विधायक मदन लाल गौतम की गुमसुदगी के पर्चे नगर में लगाये गये थे। उन्होने अभी हाल ही में बीजेपी का दामन थाम लिया था। लेकिन सवाल वही है कि आखिर चुनावी वैतरणी पार के लिये बीजेपी में आये विधायक जी पार्टी को कितना फायदा पहुँचा पायेगें। आपको बताते चलें कि विधायक जी की कुछ इमारतें भी अवैध बताकर गिरा दी गयी थीं, तो लोग पूँछ रहे हैं कि ये दलबदल कहीं ये डर का तो नतीजा नहीं

औरैया- बीते दिनों जनपद के एक नेता जी ने पार्टी बदल ली और नयी पार्टी में ज्वाइन हो गये लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या वो नयी पार्टी में सियासी फायदा लेने आये हैं या नई पार्टी को सियासी फायदा देने आये हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी कुछ दिनों पहले पूर्व विधायक मदन लाल गौतम की गुमसुदगी के पर्चे नगर में लगाये गये थे। उन्होने अभी हाल ही में बीजेपी का दामन थाम लिया था। लेकिन सवाल वही है कि आखिर चुनावी वैतरणी पार के लिये बीजेपी में आये विधायक जी पार्टी को कितना फायदा पहुँचा पायेगें। आपको बताते चलें कि विधायक जी की कुछ इमारतें भी अवैध बताकर गिरा दी गयी थीं, तो लोग पूँछ रहे हैं कि ये दलबदल कहीं ये डर का तो नतीजा नहीं
नन

औरैया- बीते दिनों जनपद के एक नेता जी ने पार्टी बदल ली और नयी पार्टी में ज्वाइन हो गये लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या वो नयी पार्टी में सियासी फायदा लेने आये हैं या नई पार्टी को सियासी फायदा देने आये हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी कुछ दिनों पहले पूर्व विधायक मदन लाल गौतम की गुमसुदगी के पर्चे नगर में लगाये गये थे। उन्होने अभी हाल ही में बीजेपी का दामन थाम लिया था। लेकिन सवाल वही है कि आखिर चुनावी वैतरणी पार के लिये बीजेपी में आये विधायक जी पार्टी को कितना फायदा पहुँचा पायेगें। आपको बताते चलें कि विधायक जी की कुछ इमारतें भी अवैध बताकर गिरा दी गयी थीं, तो लोग पूँछ रहे हैं कि ये दलबदल कहीं ये डर का तो नतीजा नहीं

औरैया- बीते दिनों जनपद के एक नेता जी ने पार्टी बदल ली और नयी पार्टी में ज्वाइन हो गये लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या वो नयी पार्टी में सियासी फायदा लेने आये हैं या नई पार्टी को सियासी फायदा देने आये हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी कुछ दिनों पहले पूर्व विधायक मदन लाल गौतम की गुमसुदगी के पर्चे नगर में लगाये गये थे। उन्होने अभी हाल ही में बीजेपी का दामन थाम लिया था। लेकिन सवाल वही है कि आखिर चुनावी वैतरणी पार के लिये बीजेपी में आये विधायक जी पार्टी को कितना फायदा पहुँचा पायेगें। आपको बताते चलें कि विधायक जी की कुछ इमारतें भी अवैध बताकर गिरा दी गयी थीं, तो लोग पूँछ रहे हैं कि ये दलबदल कहीं ये डर का तो नतीजा नहीं

यदा लेने आये हैं या नई पार्टी को सियासी फायदा देने आये हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी कुछ दिनों पहले पूर्व विधायक मदन लाल गौतम की गुमसुदगी के पर्चे नगर में लगाये गये थे। उन्होने अभी हाल ही में बीजेपी का दामन थाम लिया था। लेकिन सवाल वही है कि आखिर चुनावी वैतरणी पार के लिये बीजेपी में आये विधायक जी पार्टी को कितना फायदा पहुँचा पायेगें। आपको बताते चलें कि विधायक जी की कुछ इमारतें भी अवैध बताकर गिरा दी गयी थीं, तो लोग पूँछ रहे हैं कि ये दलबदल कहीं ये डर का तो नतीजा नहींथीं, तो लोग पूँछ रहे हैं कि ये दलबदल कहीं ये डर का तो नतीजा नहीं