750 से ज्यादा रोहिंग्या यूपी में, पाक से भी जुड़े है तार

लखनऊ: डीजीपी मुकुल गोयल ने आज पुलिस मुख्यालय में इस साल की यूपी एटीएस की उपलब्धियां बताई। डीजीपी ने बताया कि पिछले एक साल में यूपी एटीएस ने आतंकी संगठन से लेकर अवैध धर्मान्तरण और रोहिंग्यो की तस्करी करने वाले गिरोहों का भंडाफोड़ किया। यही नही आर्थिक घोटाला करने वाले चाइनीज़ गैंग को भी इस साल यूपी एटीएस ने शिकंजा कसा।

प्रदेश में रह रहे 750 अवैध रोहिंग्या, गिरोह के पाक से जुड़े है तार

डीजीपी मुकुल गोयल ने बताया कि यूपी एटीएस ने रोहिंग्यो और बांग्लादेशियों को अवैध रूप से भारत लेकर हिन्दू नाम से विदेश भेजने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। भारत में एंट्री कराने से लेकर विदेश भेजने और भारत में ही काम दिलाने के लिए 8 से 10 लाख रुपये वसूलते थे। इस गिरोह 42 लोगों को गिरफ्तार किया गया है जिसमें 16 रोहिंग्या, 19 बांग्लादेशी और 7 भारतीय शामिल है। आईजी एटीएस जीके गोस्वामी ने बताया कि जिस गिरोह को एटीएस ने पकड़ा है उसने हालही में 55 लोगों का एक जत्था विदेश भेजा है । और इस गिरोह द्वारा लाये गए 750 लोग अभी भी यूपी में हिन्दू नाम और फर्जी वोटर आईडी कार्ड के साथ रह रहे हैं। वहीं इनके खातों से डेढ़ करोड़ रुपयों के लेनदेन सामने आया है। आईजी एटीएस ने बताया कि इस गिरोह का पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान से भी सम्बन्ध हो सकता है और इसकी गहन जांच कराई जा रही है। यही नही उनके मुताबिक इन रोहिंग्यो के पास भारतीय वोटर आईडी कार्ड है तो ये इस बार के विधान सभा चुनाव में भी हिस्सा ले सकते हैं।

अवैध धर्मान्तरण करने वाले गिरोह पर एटीएस ने कसा शिकंजा

डीजीपी मुकुल गोयल ने बताया कि यूपी एटीएस ने साल 2021 में मूक बधिर छात्रों और गरीब लोगों को धन , नौकरी व शादी का लालच देकर अवैध धर्मान्तरण करने वाले सिंडिकेट का खुलासा किया। एटीएस ने इस गिरोह के सरगना सदस्य उमर गौतम समेत अलग अलग राज्यों से 17 लोगों को गिरफ्तार किया। डीजीपी के मुताबिक, इस गिरोह ने अवैध धर्मान्तरण को अंजाम देने के लिए विदेशों से हवाला के माध्यम से 100 करोड़ रुपय भारत में मंगवाए थे।

IS आतंकी मॉड्यूल को 2021 में एटीएस ने किया खत्म

डीजीपी ने बताया कि साल 2021 में ही एटीएस ने उत्तर प्रदेश में विस्फोट करने की साजिश करने वाले 6 आतंकियों को गिरफ्तार किया। वहीं अलकायदा आतंकी संगठन द्वारा चला रहे ऑनलाइन मॉड्यूल संगठन का पर्दाफाश करते हुए एटीएस ने अलकायदा के दो आतंकियों को गिरफ्तार किया था।

चाइनीज गैंग का किया पर्दाफाश

डीजीपी ने एटीएस की एक साल की उपलब्धि बताते हुए बताया कि इस साल एक ऐसे चाइनीज़ गैंग का खुलासा किया था। जो प्री एक्टिवेटेड सिम के माध्यम ऑनलाइन खाता खोल कर अवैध रूप से अरबों रुपयों का लेन देन करते थे। एटीएस ने 4 चाइनीज़ आरोपियों के साथ 20 लोगों को गिरफ्तार किया था।

डीजीपी ने बताया इसी साल एटीएस एवं स्पॉट कमांडो के विस्तार के लिए उत्तर प्रदेश शासन ने 12 जिलों में भूमि आवंटन कराई । जिसमें देवबंद, इंडो नेपाल बॉर्डर पर 4 जिले समेत 12 जिले शामिल है। डीजीपी मुकुल गोयल ने बताया कि इस वर्ष एटीएस द्वारा 12 मुकदमें दर्ज किए गए, जिसमें 118 गिरफ्तारी हुई और 11 ऐसे ऑपरेशन थे जिसमें 29 लोग गिरफ्तार किए गए।