बंदूक लूटने वाले गिरोह का पर्दाफाश, लाखों में करते थे असलहे का सौदा!, 5 गिरफ्तार

भिंड: पुलिस ने करीब एक महीने पहले सिक्योरिटी गार्ड से हुई बंदूक लूट की वारदात का खुलासा किया है. इस लूट कांड को अंजाम देने वाले 5 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने बताया की इस वारदात को अंजाम देने वाले पांच बदमाशों का गिरोह था जिसके निशाने पर सुरक्षा गार्ड्स रहते थे. साथ ही वो लोग भी इनके निशाने पर थे जिनके पास लाइसेंसी हथियार हैं. बदमाशों के पास से लूटी गई बंदूक समेत कई हथियार बरामद हुए हैं.

एक दिन में दो वारदातों का खुलासा

पिछले महीने 21 तारीख को एक बाइक एजेंसी के सुरक्षा गार्ड से लाइसेंसी बंदूक, कारतूस की लूट हुई थी. साथ ही ब्लॉक कॉलोनी के सामने बायपास रोड पर एक महिला से मोबाइल और नकदी की लूट हुई थी. इसका पुलिस ने एक ही दिन में खुलासा कर दिया है. एसपी शैलेंद्र सिंह चौहान ने बताया की घटना के बाद मिली शुरुआती जानकारी से पुलिस को काफी मदद मिला. शुरुआती जानकारी के बाद बदमाशों ने अपने काम करने के अंदाज को बदल दिया जिससे बदमाशों के लोकेशन के बारे में पता नहीं चल पा रहा था. ऐसे में एक बार फिर से पुलिस ने नए सिरे से जांच शुरू की. नए सूत्रों की मदद से पुलिस ने पूरे मामले को सुलझाते हुए सफलता हासिल की.

ऐसे दिया था वारदात को अंजाम

गिरफ्तार आरोपियों में शामिल रामप्रीत का MJS कॉलेज के पास दुकान है, जहां से होंडा एजेंसी में सुरक्षा गार्ड प्रदीप शर्मा हर दिन साइकल से अपनी लाइसेंसी बंदूक के साथ निकलता था. आरोपी रामप्रीत पहले भी अवैध कट्टे और मोबाइल की खरीदी बिक्री करता था. ऐसे में पीड़ित प्रदीप शर्मा की विदेशी बंदूक देखकर रामप्रीत को लालच आ गया. लाखों में बिक्री की उम्मीद लगाकर उसने अपना गैंग बनाया. वहीं वारदात की रात गार्ड प्रदीप अपनी साइकिल से घर जा रहा था, जिस बीच पीछे से दो मोटरसाइकिल आई. दोनों बाइकों को निकलने के लिए रास्ता दे दिया और अपनी साइकिल को साइड में करके चलाने लगा. तभी बाइक सवार बदमाशों ने नजदीक आकर प्रदीप के सर पर वार कर दिया. बदमाश बंदूक लूटकर मौके से फरार हो गए. स्थानीय लोगों ने पुलिस को इस बात की सूचना दी. इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने पीड़ित को अस्पताल में भर्ती कराया और बदमाशों की तलाश में जुट गई.

जैकेट के आधार पर हुई गिरफ्तारी

थाना प्रभारी रामबाबु यादव ने CCTV फूटेज खंगाला, जिसमें बंदूक की लूट करते बदमाशों की तस्वीर सामने आई. वहीं एक आरोपी ने लूट के दौरान एक जैकेट पहन रखा था. जिसके बाद पुलिस ने उस जैकेट के आधार पर बदमाशों तक पहुंची और गिरफ्तार किया.

डेढ़ लाख रुपय में बेची थी बंदूक, UP तक फैले हैं तार

आरोपियों से पूछताछ में पूरे मामले की जानकारी मिली, जिसमें पता चला की आरोपियों ने लूट की बंदूक को डेढ़ लाख रुपय में बेची थी. पुलिसकर्मी ने आरोपियों की निशानदेही पर बंदूक बरामद कर ली. साथ ही लूट में इस्तेमाल हुई दो बाइक, 7 कारतूस और कुछ नकदी भी बरामद की है. इन लोगों के तार सीमावर्ची राज्य UP से भी जुड़े हैं. जहां ये अवैध तरीके सा लूट के असलहे की खरीद फरोख्त का धंधा करते थे. पुलिस अभी इनके और कनेक्शन की जांच कर रही है.