चूना लगाने आया नया PC वायरस, भारत सरकार ने दी चेतावनी

Virus को लेकर भारत सरकार की ओर से Alert किया गया है. इस वायरस को लेकर इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (CERT-In) ने वॉर्निंग दी है. ये रैनसमवेयर ईमेल के जरिए फैलता है और यूजर को फाइनेंशियली नुकसान पहुंचाता है.

अनलॉक करने के बदले पैसों की डिमांड

अलर्ट के अनुसार ये Windows कंप्यूटर को टारगेट कर रहा है. PC में आते ही ये हैकर्स को डिवाइस का कंट्रोल दे देता है और हैकर्स पीसी को रिमोटली लॉक कर देते हैं. इसके बाद वो यूजर्स से पीसी अनलॉक करने के बदले पैसों की डिमांड करते हैं. आपको बता दें कि रैनसमवेयर एक तरह का मैलवेयर है जो सिस्टम को या जरूरी फाइल्स को पूरी तरह से लॉक कर देता है.

Diavol नाम का नया वायरस

इसके बाद हैकर्स यूजर्स से पैसे की मांग Bitcoins में करते हैं. अगर यूजर्स पैसे नहीं देते हैं तो हैकर्स फाइल्स को डिलीट कर देते हैं या पीसी को यूजलेस बनाकर छोड़ देते हैं. इस रैनसमवेयर को Diavol कहा गया है. एडवाइजरी के अनुसार ये रैनसमवेयर Microsoft Visual C/C++ Compiler से कंपाइल है. ये फाइल को एन्क्रिप्टेड यूजर मोड Asynchronous Procedure Calls से बनाता है.

स्कैन करके थ्रेट को डिटेक्ट करने की करें कोशिश

Diavol मैलवेयर ईमेल के जरिए फैलता है. इसमें OneDrive का लिंक होता है. OneDrive लिंक यूजर्स को एक जिप फाइल डाउनलोड करने के लिए रिडायरेक्ट करता है. इसमें ISO फाइल में LNK फाइल और DLL होते हैं. इसे ओपन करने पर यूजर का डिवाइस मैलवेयर से प्रभावित हो जाता है. इस रैनसमवेयर से बचने के लिए यूजर्स को सॉफ्टवेयर और ऑपरेटिंग सिस्टम को लेटेस्ट पैच से अपडेट करने की जरूरत है. आने और जाने वाले सभी मैसेज को स्कैन करके थ्रेट को डिटेक्ट करने की कोशिश करें. आप इसके लिए एक बढ़िया एंटी-वायरस का यूज कर सकते हैं.