नाजीरियन ठगों ने महिला से दोस्ती कर ठगे 32 लाख, गिरफ्तार

अभी तक देश के ही ठग पुलिस के लिए आफत बने हुए थे. अब विदेशी ठग भी देश में अपना धंधा जोर शोर से चला रहे हैं. ऐसा ही एक मामला रायबरेली में देखने को मिला. जहां तीन नाइजीरियन ठगों ने एक महिला से दोस्ती करके उससे 32 लाख रुपए गिफ्ट लाने के नाम पर ठग लिए. जिसका खुलासा एसटीएफ व सीओ सिटी वंदना सिंह की टीम ने किया तो लोगों के होश उड़ गए. तीन नाइजीरियन ठगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर संबंधित धाराओं में जेल भेज दिया.

क्या है पूरा मामला

रायबरेली कि रहने वाली एक तलाक शुदा महिला को उसके इंस्टाग्राम पर एक फ़्रेंड रिक्वेस्ट आई थी. महिला ने उसे ऐक्सेप्ट किया तो दोनों के बीच चैट शुरू हो गई. इसी बीच दोनों के दरमियान व्हाट्सऐप नंबर का आदान प्रदान हुआ. युवक ने खुद को अमेरिका का रहने वाला एक बड़ा डॉक्टर हैरी बताया था. नाइजीरियन सचमुच के अमेरिकी डॉक्टर हैरी की हैक की हुई प्रोफ़ाइल से फ़ोटो चुराकर रोज़ अपडेट करता था. डॉक्टर हैरी बने नाइजीरियन के मोहपाश में महिला फंसती चली गई.

पुलिस जांच में हुआ मामले का खुलासा

सीओ सिटी की अगुवाई में पुलिस ने मामले की तफ्तीश शुरू की तो विदेशी लोगों के जुड़े होने की बात सामने आई. बाद में इस मामले में एसटीएफ भी जुट गई. एसटीएफ बंद पड़े इंस्टाग्राम से कंप्यूटर का आईपी हासिल कर दिल्ली की लोकेशन तक पहुंच गई. दिल्ली में चिन्हित लोकेशन के नंबरों को सर्विलांस पर लगाया तो उनमें एक नंबर ऐसा था जो हर छोटी बड़ी इस्तेमाल की चीजें घर पर ही फोन से मंगवाता था और उसके सामान्य दाम से कई गुना ज्यादा भुगतान करता था. एसटीएफ ने सामान पहुंचाने वालों को विश्वास में लेकर छापेमारी की तो तीन नाइजीरियन हत्थे चढ़ गए.

पुलिस ने सभी नाइजीरियन ठगों को किया गिरफ्तार

पुलिस ने पकड़े गए नाइजीरियन युवकों के कब्ज़े से उनके पासपोर्ट जब्त कर एम्बेसी को सूचित कर दिया है।युवकों ने बताया कि वह लोग 2019 में भारत नौकरी करने के नाम पर आए थे. यह लोग यहां अपने शिकार को फंसाने के बाद मिली रकम को तुरंत नाईजीरिया ट्रांसफर कर देते हैं. नाइजीरियन युवकों ने बताया कि यह पहला केस उन्हें मिला था जिसे पूरा कर अब दूसरा शिकार तलाश रहे थे.