अखिलेश लगवाएंगे भगवान परशुराम की प्रतिमा, ब्राह्मण पॉलिटिक्स पर सियासत शुरू

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के चुनाव में सारे राजनीतिक दल जातीय समीकरण को सटीक बैठाने का प्रयास कर रहें है। प्रदेश में एक बड़ा वोट बैंक ब्राह्मणों का भी है जिसे सारे दल अपने पाले में लाने का प्रयास कर रहें जंहा सभी बड़े दलों में होड़ लगी हुई है कि इस वर्ग को कैसे लुभाया जाए। तो समाजवादी पार्टी ने प्रदेश के सभी जिलों में भगवान परशुराम की प्रतिमा लगवाने की घोषणा की हैं ।

समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक और चिरंजीवी भगवान परशुराम चेतना पीठ के संस्थापक संतोष पांडेय ने साढ़े सात फीट की भगवान परशुराम की प्रतिमा लगवाई है. ये प्रतिमा मोहनलालगंज में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के करीब लगाई गई है. संतोष पांडेय का कहना है कि कांस्य की यह प्रतिमा जयपुर में बनवाई गई है. जिस मंदिर में इसे स्थापित किया है वो भी जयपुर से बनवाकर यहां लाया और लगवाया गया है.

जयपुर में बनी है प्रतिमा
संतोष पांडेय ने कहा कि भगवान परशुराम ब्राह्मणों के आराध्य हैं. इस मंदिर के पास गुरुकल, गौशाला, गेस्ट हाउस भी बनवाएंगे. उन्होंने बताया कि इस प्रतिमा को जयपुर में बनवाया गया है. ये प्रतिमा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पास लगाई गई है. जयपुर के मशहूर मूर्तिकार राजकुमार पंडित ने भगवान परशुराम की ये मूर्ति तैयार की है.

लखनऊ में लगेगी 108 फिट की मूर्ति
बता दें कि समाजवादी पार्टी की तरफ से लखनऊ में 108 फीट की भगवान परशुराम की कांस्य की प्रतिम लगवाई जानी है. सपा के राष्ट्रीय सचिव व पूर्व कैबिनेट मंत्री प्रो. अभिषेक मिश्र ने बताया कि 108 फीट की कांस्य की प्रतिमा जो सपा की तरफ से लगाई जानी है वो जयपुर में तैयार हो रही है. उस प्रतिमा को शुभ मुहूर्त में लखनऊ में लगाया जाएगा, जिसका लोकार्पण सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव करेंगे. 108 फीट की प्रतिमा मोहान रोड पर एक्सप्रेस-वे के पास लगाई जानी प्रस्तावित है.