Bank Strike: आज भी रहेगी बैंकों की हड़ताल, पहले दिन रुके 19 हजार करोड़ के काम

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के करीब नौ लाख कर्मचारियों ने सरकारी बैंकों के निजीकरण के विरोध में गुरुवार को दो दिन की हड़ताल शुरू की। आज हड़ताल का दूसरा दिन है। हड़ताल के पहले दिन देश भर में इन बैंकों का कामकाज प्रभावित रहा। इन बैंकों के ग्राहकों को बैंको का कामकाज बंद होने की वजह से जमा और निकासी, चेक क्लीयरेंस और ऋण मंजूरी जैसी सेवाएं के ठप होने से दिक्कतों का सामना करना पड़ा। बैंकों का कामकाज शुक्रवार को भी प्रभावित हो सकता है।

इससे बैंकिंग सेवाओं  पर असर हो रहा है और आम लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. पहले दिन के हड़ताल से करीब 19 हजार करोड़ के बैंकिंग कामकाज के प्रभावित होने का अनुमान है.

सरकारी बैंकों के निजीकरण

सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 के बजट में दो सरकारी बैंकों के निजीकरण की घोषणा की थी। ग्राहकों को हड़ताल की जानकारी देने के साथ भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई), पंजाब नेशनल बैंक और बैंक ऑफ इंडिया जैसे सरकारी बैंकों की कई शाखाएं गुरुवार को बंद रहीं। कर्मचारी संघों ने बताया कि सरकारी बैंकों के अलावा पुरानी पीढ़ी के निजी बैंकों और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के कुछ कर्मचारी भी हड़ताल में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मचारी से लेकर वरिष्ठ अधिकारी तक सभी वर्ग के अधिकारी दो दिन की इस हड़ताल में हिस्सा ले रहे हैं।

सरकारी बैंकों की इन सेवाओं पर हो रहा है असर

अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (AIBEA) के महासचिव सीएच वेंकटचलम ने दावा किया कि पहले दिन के हड़ताल से 20.4 लाख चेक का क्लियरेंस अटक गया. इससे 18,600 करोड़ रुपये के बैंकिंग कामकाज प्रभावित हुए. सरकारी बैंककर्मियों की इस हड़ताल के चलते गुरुवार को जमा, निकासी, , चेक क्लियरेंस, लोन अप्रूवल जैसे काम प्रभावित हुए.

इन सेवाओं पर कोई असर नहीं

ऑनलाइन माध्यमों से बैंकिंग (Online Banking) के कामकाज निपटा लेने वाले ग्राहकों को परेशान होने की जरूरत नहीं है. सभी बैंकों की डिजिटल बैंकिंग सेवाएं (Digital Banking), इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking), यूपीआई बेस्ड सर्विसेज (UPI), मोबाइल बैंकिंग (Mobile Banking) आदि सामान्य तरीके से काम कर रहे हैं. बैंक हड़ताल को देखते हुए पहले ही यह व्यवस्था करने में जुट गए थे कि सप्ताह के दौरान ग्राहकों को एटीएम (ATM) से पैसे निकालने में दिक्कतें नहीं हो. एटीएम में कैश समाप्त होने के मामले अभी तक सामने नहीं आए हैं.