Vijay Diwas 2021: पाकिस्तानी सेना ने टेके थे भारत के सामने घुटने, किया था आत्मसमर्पण

16 दिसंबर 1971 में आज ही के दिन भारत ने आधिकारिक तौर से पाकिस्तान पर विजय की घोषणा की थी. ये ऐतिहासिक जीत की खुशी आज भी हर देशवासी के मन को उमंग से भर देती है। इस दिन को हमलोग विजय दिवस के रूप में मनाते हैं। इसी युद्ध में भारत की जीत के बाद बांग्लादेश बना था. इस साल देश 50वां विजय दिवस मनाया जा रहा है.

भारतीय सेना के सामने आत्मसमर्पण

युद्ध के दौरान शहीद हुए भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि दी जाएगी. साल 1971 का भारत-पाकिस्तान युद्ध 3 दिसंबर को शुरू हुआ और 13 दिनों तक चला. युद्ध आधिकारिक तौर पर 16 दिसंबर को समाप्त हुआ. 16 दिसंबर, 1971 को पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल नियाजी के कुल 93,000 सैनिकों ने भारतीय सेना के सामने आत्मसमर्पण कर दिया.

बांग्लादेश मुक्ति दिवस

यह द्वितीय विश्व युद्ध के बाद अब तक का सबसे बड़ा सैन्य आत्मसमर्पण भी था. आज के दिन को ‘बांग्लादेश मुक्ति दिवस’ भी कहा जाता है और यह पाकिस्तान से बांग्लादेश की आधिकारिक स्वतंत्रता का प्रतीक है. 1971 के युद्ध के दौरान तकरीबन 3900 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे और 9851 सैनिक घायल हो गए थे.