Kharmas 2021: इस दिन से लग रहा खरमास, एक महीने बंद रहते हैं शुभ काम

मार्गशीर्ष और पौष मास के बीच हर साल खरमास आता है. सूर्य जब धनु राशि में प्रवेश करते हैं तो खरमास लगता है. ज्योतिषविदों के अनुसार, खरमास में शादी-विवाह , सगाई, मुंडन और भवन निर्माण जैसे मंगल कार्य वर्जित माने जाते हैं. इस साल 16 दिसंबर को सूर्य के धनु राशि में प्रवेश करते ही खरमास लग जाएगा और इसका समापन 14 जनवरी को होगा. तब तक सभी शुभ कार्य बंद रहेंगे.

इन स्थितियों में लगता है खरमास

ज्योतिषशास्त्र में गुरु और सूर्य को मित्र ग्रह कहा गया है। सूर्य आत्मा के कारक ग्रह हैं और गुरु धर्म के कारक ग्रह हैं जो भगवान विष्णु के प्रतिनिधि माने जाते हैं। इसलिए जब भी सूर्य गुरु की राशि में आते हैं तो यह समय सांसारिक कार्यों से मन को हटाकर आध्यात्मिक कार्यों में मन लगाने के लिए बेहतरीन समय होता है।

खरमास में लग जाता है शुभ कार्यों पर विराम

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, बृहस्पति धनु राशि का स्वामी होता है. बृहस्पति का अपनी ही राशि में प्रवेश इंसान के लिए अच्छा नहीं होता है. ऐसा होने पर लोगों की कुंडली में सूर्य कमजोर पड़ जाता है. इस राशि में सूर्य के मलीन होने की वजह से इसे मलमास भी कहा जाता है. ऐसा कहते हैं कि खरमास में सूर्य का स्वभाव उग्र हो जाता है. सूर्य के कमजोर स्थिति में होने की वजह से इस महीने शुभ कार्यों पर पाबंदी लग जाती है.