सरकारी नौकरी लगवाने के नाम पर ठगे 62 लाख

देहरादून : बेरोजगार युवाओं को ठगने का एक बड़ा मामला सामने आया है। जालसाजों ने सचिवालय और परिवहन विभाग में नौकरी का झांसा देकर 9 युवकों से 62 लाख रुपए ठग लिए। इस रकम में से कुछ पैसा उत्तराखण्ड विधानसभा में भी लिया गया।  इस कारण युवकों ने आसानी से यकीन कर लिया। साथ ही आरोपियों ने खुद को सचिवालय में सचिव और अपर सचिव बताया था।

सच्चाई पता लगी तो उड़े होश

युवक जब आरोपितों के दिए नियुक्ति पत्र लेकर संबंधित विभागों में गए तो पता चला कि वहां कोई भर्ती निकली ही नहीं। यह जानकर उनके होश उड़ गए। पीडि़तों ने जब आरोपितों से संपर्क करने की कोशिश की तो सभी के मोबाइल बंद आए।

सचिवालय स्टाफ की मिलीभगत की संभावना

अब तक हुई जांच में पता चला है कि ठगी करने वाले चारों आरोपितों में कोई भी सचिवालय में तैनात नहीं है। ऐसे में सवाल उठता है कि युवकों को लेकर वह सचिवालय में कैसे घुस गए। इसमें अंदर के स्टाफ की भी मिलीभगत की संभावना है। विवेचना में पता चलेगा कि आरोपितों के ऊपर किसका हाथ है।