तिथी हुई घोषित, जाने किस दिन बंद होंगे चारों धामों के कपाट

श्रृद्धालुओं के पास चारधाम (Chardham yatra) की यात्रा करने के लिए अब कुछ ही दिन बचे हैं। अगले महीने चारों धामों के कपाट शीतकाल के लिए बंद हो जाएंगे। बदरीनाथ धाम बंद होने की तिथि तय हो गई है। बता दें कि, बदरीनाथ धाम के कपाट शीतकाल के लिए 20 नवबंर को शाम 6 बजकर 45 मिनट पर बंद किए जाएंगे। साथ ही केदारनाथ धाम के कपाट भाईदूज पर्व पर छह नवंबर को शीतकाल के लिए बंद किए जाएंगे। जबकि गंगोत्री धाम के कपाट अन्नकूट पर्व पर पांच नवंबर को सुबह 11 बजकर 45 मिनट पर श्रद्धालुओं के लिए बंद किए जाएंगे।

गंगोत्री धाम के कपाट 5 नवंबर को होंगे बंद

यमुनोत्री धाम के कपाट बंद होने का मुहूर्त एक सप्ताह के अंतराल में निकाला जाएगा। वहीं गंगोत्री मंदिर समिति के सचिव दीपक सेमवाल ने कहा कि गंगोत्री धाम के कपाट अन्नकूट पर्व पर 5 नवंबर को दोपहर 11 बजकर 45 मिनट पर श्रद्धालुओं के लिए बंद किए जाएंगे। द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर के कपाट शीतकाल के लिए 22 नवंबर को प्रात: साढे आठ बजे वृश्चिक लग्न में बंद हो जायेंगे। जबकि डोली आगमन पर मद्महेश्वर मेला 25 नवंबर को आयोजित होगा।

18 सितंबर को शुरू हुई थी यात्रा

बता दें कि विश्व प्रसिद्ध चार धाम यात्रा की शुरूआत 18 सितंबर को हुई थी. इस बार ई-पास व्यवस्था समाप्त होने से चारधाम यात्रा करने आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या लगातार बढ़ी है. उत्तराखंड देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के अनुसार गुरुवार तक 1,14,195 तीर्थयात्री चार धाम की यात्रा कर चुके हैं.