गैंग रेप मामलें में पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए निकाला पैदल मार्च

कुचामन : 5 दिन पहले दो युवकों द्वारा गैंगरेप के बाद अनुसूचित जाति की लड़की को सड़क पर फेंकने की घटना के बाद  कुचामन शहरवासियों सहित आस-पास क्षेत्र के लोगों ने एकत्रित होकर आक्रोश जताया। इस दौरान सभी ने शांतिपूर्ण मार्च निकालते हुए पुलिस के उच्च अधिकारियों व कुचामन SDM की मौजूदगी में जिला कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में पीड़िता को जल्द न्याय दिलाने के लिए कोर्ट में जल्द चार्जशीट पेश करने, CI सहित उसके पुलिस सहयोगियों पर कार्रवाई करने और आरोपी द्वारा अपनी पहचान छुपाकर आईडी बनाने के संबंध में विशेष इंक्वायरी की मांग की गई.

बंद रहे बाज़ार, हजारों लोग हुए जमा


गैंगरेप की घटना के खिलाफ सोमवार को बुलाये गए बंद के आह्वान से सुबह से ही लोगों की भीड़ जमा होनी शुरू हो गई। थोड़ी ही देर में हजारों लोग जमा हो गए। इसके साथ ही बाजार भी बंद हो रहे। इसके बाद सभी लोगों ने मार्च निकाल हजारों लोगों की मौजूदगी में सर्व हिंदू समाज की तरफ से पुलिस के उच्च अधिकारियों व कुचामन SDM की मौजूदगी में जिला कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा।

ये था मामला

बुधवार देर रात पीड़िता की मां ने कुचामन थाने में रिपोर्ट देकर बताया था कि उसकी 17 साल की नाबालिग बेटी सुबह 10 बजे कुचामन गई हुई थी। इसके बाद उसे कोई नशीली चीज खिलाकर बेहोश कर कार में पीछे वाली सीट पर पटक दिया। दोनों आरोपियों ने उससे सामूहिक दुष्कर्म किया।

इसके बाद देर शाम किसी अज्ञात नंबर से पीड़िता के भाई को फोन आया। उसे पुलिस में रिपोर्ट करने पर जान से मारने की धमकी दी गई।इसके बाद शुक्रवार को पुलिस ने गैंगरेप मामले के दोनों आरोपियों अशराज पुत्र मोहम्मद सादिक मिरासी (24) निवासी कुचामन व इकबाल पुत्र रमजान भाटी (35) निवासी कोलिया को गिरफ्तार कर लिया था। जिन्हें शनिवार को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *