World Arthritis Day 2021: अर्थराइटिस है तो, क्या खाएं और क्या न खाएं

हर साल 12 अक्टूबर को दुनियाभर में विश्व अर्थराइटिस दिवस (World Arthritis Day 2021) मनाया जाता है। जोड़ों का दर्द कम करने के लिए उनके ऊपर से प्रेशर व तनाव हटाना बहुत जरूरी है। जिसमें एक हेल्दी व बैलेंस्ड डाइट और हेल्दी बॉडीवेट काफी महत्वपूर्ण रोल निभाता है।

क्या खाने से मिलेगा फायदा

  • बथुए का साग गठिया के रोगियों के लिए किसी औषधि से कम नहीं है. आप बथुआ का जूस रोजाना खाली पेट पी सकते हैं, इससे आपको दर्द में फायदा महसूस हो सकता है.
  • आप हर दिन एक सेब खाएं. इससे गठिया के रोगियों को लाभ मिलता है, हां खाने से पहले इसे अच्छे से धोएं ताकि कोई हानिकारक रसायन आपके शरीर में प्रवेश न करें.
  • हर दिन अलसी के बीज चबा-चबाकर खाते हैं तो इससे आपके शरीर में यूरिक एसिड नियंत्रित करने में सहायता मिलती है. एक छोटे से चम्मच में लेकर अलसी का बीज खाएं.
  • ऐसे फल जो खट्टे होते हैं उनमें विटामिन सी अधिक रहता है इसके सेवन से गठिया के रोगियों को फायदा मिलता है. संतरा, मौसमी, नींबू, आंवला आदि जमकर खा सकते हैं.

अर्थराइटिस में क्या न खाए

ठंडी चीजों से परहेज

अर्थराइटिस के रोगियों को ठंडी चीजों से दूरी बना कर ही रखनी चाहिए. कुछ ठंडा खाने के दर्द बढ़ सकता है. ऐसे में गठिया के मरीजों को फ्रिज में पड़ी हुई दही, खट्टी और ठंडी-ठंडी छाछ नहीं लेनी चाहिए.

प्रोटीन युक्त भोजन से करें परहेज

अर्थराइटिस के रोगियों को डॉक्टर सलाह देते हैं कि उन्हें हाई प्रोटीन फूड से दूरी बनाकर रखनी चाहिए, अधिक प्रोटीन लेने से अर्थराइटिस की समस्या बढ़ सकती है. शरीर में वायु बढ़ाने वाली चीजों से परहेज जरूरी है, जैसे- छोले, चना, राजमा, अरबी और कटहल इनसे दूर रहें.

डीप फ्राई फूड से बचें

घी या तेल में डीप फ्राई किया हुआ खाना अर्थराइटिस में आपकी समस्या बढ़ा सकता है. पैकेज्ड फूड, स्नैक्स और चिप्स वगैरह न खाएं तो अच्छा है.

मछली और अखरोट न खाएं

अखरोट और मछली दोनों में ही ओमेगा-3 फैटी एसिड अधिक मात्रा में रहता है, ये आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ा देता है, इससे अ र्थराइटिस में दर्द बढ़ जाता है। वहीं रेड मीट का इस्तेमाल न करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *