केंद्रीय ऊर्जा मंत्री बड़ा बयान, कोयले की कमी नहीं, दिल्ली में आपूर्ति सामान्य

देश के कई राज्यों में कोयले की कमी गहराते बिजली संकट की खबरों के बीच केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने बड़ा बयान दिया है। आज पदाधिकारियों के साथ हुई बैठक में ऊर्जा मंत्री ने कोयले की कमी से निपटने के लिए इंतजामों पर चर्चा की और बैठक के बाद आरके सिंह ने बड़ा बयान दिया कि- इस तरह की खबरें ‘निराधार’ हैं, ना तो संकट कभी था, न आगे होगा। उन्होंने कहा कि हमारे पास आज के दिन में कोयले का चार दिन से ज़्यादा का औसतन स्टॉक है, हमारे पास प्रतिदिन स्टॉक आता है। कल जितनी खपत हुई, उतना कोयले का स्टॉक आया।

दिल्ली में बिजली संकट नहीं होनेवाला, बेवजह लोग हो रहे परेशान

केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर. के सिंह ने कहा कि दिल्ली में जितनी बिजली की आवश्यकता है, उतनी बिजली की आपूर्ति हो रही है और होती रहेगी. बिना आधार के ये पैनिक इसलिए हुआ क्योंकि गेल ने दिल्ली के डिस्कॉम को एक मैसेज भेज दिया कि वो बवाना के गैस स्टेशन को गैस देने की कार्रवाई एक या दो दिन बाद बंद करेगा. वो मैसेज इसलिए भेजा क्योंकि उसका कांट्रैक्ट समाप्त हो रहा है।

सिंह ने कहा, बैठक में गेल के भी सीएमडी आए हुए थे हमने उन्हें कहा है कि, कांट्रैक्ट बंद हो या नहीं, गैस के स्टेशन को जितनी गैस की जरूरत है उतनी गैस आप देंगे।

विपक्ष पर बोला हमला

बिजली संयंत्रों में कोयले की कमी पर कांग्रेस नेताओं की टिप्पणी पर केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने कहा कि-दुर्भाग्य से कांग्रेस पार्टी के पास विचार खत्म हो गए हैं. उनके पास वोट खत्म हो रहे हैं और इसलिए उनके पास विचार भी खत्म हो रहे हैं।

कई मुख्‍यमंत्रियों ने केंद्र सरकार को लिखी चिट्ठी

बिजली संकट की आशंका को देखते हुए कई मुख्‍यमंत्र‍ियों ने केंद्र सरकार को पत्र लिखा है। दिल्‍ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर दखल देने की मांग की है। वहीं, आंध्र प्रदेश और पंजाब के मुख्‍यमंत्रियों ने भी इस संबंध में केंद्र को चिट्ठी भेजी है।