आज है आश्विन शुक्ल पंचमी तिथि, रखें इन बातों का ध्यान

आज रविवार, आश्विन शुक्ल पंचमी तिथि है।

आज अनुराधा नक्षत्र, “आनन्द” नाम संवत् 2078 है।

आज का पंचांग

शुक्ल पक्ष पंचमी

नक्षत्र: अनुराधा

आज का दिशाशूल:पश्चिम दिशा

आज का राहुकाल: 4:34 PM – 6:02 PM

सूर्य और चंद्रमा का समय

सूर्योदय – 6:25 AM

सूर्यास्त – 6:02 PM

चन्द्रोदय – Oct 10 10:16 AM

चन्द्रास्त – Oct 10 9:18 PM

शुभ काल

अभिजीत मुहूर्त – 11:50 AM – 12:37 PM

अमृत काल – 04:47 AM – 06:16 AM

ब्रह्म मुहूर्त – 04:49 AM – 05:37 AM

योग

आयुष्मान – Oct 09 06:29 PM – Oct 10 03:03 PM

सौभाग्य – Oct 10 03:03 PM – Oct 11 11:49 AM..

रखें इन बातों का ध्यान

-आज ललिता पञ्चमी है।
-आज पाण्डू पुत्र युधिष्ठिर जयन्ती है।
-देवी की सर्वप्रथम पूजा भगवान श्रीकृष्ण ने सृष्टि के आदिकाल में गोलोकवर्ती वृन्दावन के रास मण्डल में की थी।
-देवी की दूसरी बार पूजा ब्रह्माजी ने मधु और कैटभ से भय प्राप्त होने पर की थी।
-देवी की तीसरी बार पूजा शिवजी ने त्रिपुर से प्रेरित होकर की थी।
-चौथी बार इन्द्र ने पुनः राज्य प्राप्त करने के लिए भगवती की पूजा की थी।
-इसके बाद मुनीन्द्रों, सिद्धेन्द्रों, देवताओं और श्रेष्ठ महर्षियों द्वारा सम्पूर्ण विश्व में सब ओर सदा देवी की पूजा प्रारम्भ होने लगी।
-देवी का प्राकट्य सम्पूर्ण देवताओं के तेज:पुञ्ज से हुआ है।
-नवरात्र में 2 वर्ष से 10 वर्ष तक की रोग रहित और सौन्दर्यमयी कन्याओं का पूजन करना चाहिए।
-वरदान स्वरुप दुर्गा कुण्ड में स्थित हुई मॉं पराम्बा दुर्गा वाराणसी पुरी की आज भी रक्षा कर रही हैं।
-नवरात्र में विधि विधान से देवी के नवाक्षर ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै मन्त्र का जप तथा मार्कण्डेय पुराण में वर्णित देवी स्तोत्र का पाठ करना चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *