आज है आश्विन शुक्ल तृतीया/चतुर्थी तिथि, रखें इन बातों का ध्यान

आज शनिवार, आश्विन शुक्ल तृतीया/चतुर्थी तिथि है।

आज विशाखा नक्षत्र, “आनन्द” नाम संवत् 2078 है

आज का पंचांग

शुक्ल पक्ष तृतीया

शुक्ल पक्ष चतुर्थी [ क्षय तिथि ]

09 अक्टूबर 07:49 AM– 10 अक्टूबर 04:55 AM

वरद चतुर्थी

नक्षत्र: विशाखा

आज का दिशाशूल: पूर्व दिशा ।

आज का राहुकाल: 9:19 AM – 10:46 AM

सूर्य और चंद्रमा का समय

सूर्योदय – 6:25 AM

सूर्यास्त – 6:02 PM

चन्द्रोदय – 09 अक्टूबर 9:09 AM

चन्द्रास्त – 09 अक्टूबर 8:27 PM

शुभ काल

अभिजीत मुहूर्त – 11:50 AM – 12:37 PM

अमृत काल – 08:47 AM – 10:15 AM

ब्रह्म मुहूर्त – 04:48 AM – 05:36 AM

योग

प्रीति – 08 अक्टूबर 10:03 PM – 09 अक्टूबर 06:29 PM

आयुष्मान – 09 अक्टूबर 06:29 PM – 10 अक्टूबर 03:03 PM

रखें इन बातों का ध्यान

-नवरात्र में श्रीदुर्गा सप्तशती का पाठ समस्त संकटों के निवारण का अचूक अस्त्र है।

-पाठ में मन्त्रों की शुद्धता का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

-सम्पुट देकर पाठ करने से समस्त कामनाओं की सिद्धि होती है।

-स्त्रोत का पाठ मानसिक नहीं, वाचिक होना चाहिए।

-वाणी से स्पष्ट उच्चारण उत्तम माना गया है।

-56 श्लोक वाला माहत्त्म्य सहित देवी कवच का पाठ नियम से करने पर समस्त बाधाएं नष्ट हो जाती है।

-नवरात्र में रामरक्षा स्तोत्र, गुरु मन्त्र या अन्य मन्त्र का जो प्रतिदिन 7 बार पाठ करता है, वह सिद्ध हो जाता है।

-ऋतु परिवर्तन के साथ विभिन्न रोग – महामारी, ज्वर, कफ, खॉंसी आदि के निवारणार्थ शारदीय तथा वासन्ती – यह दो नवरात्र व्रत और दुर्गा – पूजा के लिए प्रशस्त हैं।

-किसी भी मानव शरीर में देवी – देवता के नाम पर होने वाली क्रीड़ा पर विश्वास न करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *