प्रियंका ने खुद संभाली कमान, सियासत का अखाड़ा बना जिला लखीमपुर !

जी हां हम बात कर रहे है 3 अक्टबर के बाद से कांग्रेस के एक-एक घटना क्रम की जिसका मोर्चा खुद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने संभाली थी। मिशन यूपी 2022 को लेकर कांग्रेस मंथन करने प्रियंका लखनऊ पहुंची हुई थी की तभी अचानक लखीमपुर खीरी में किसानों की मौत की खबर आती है। खबर देखते ही देखते पूरे देश-दुनिया में फैल गयी। मौत की खबर सुनते ही सभी सियासी दल लखीमपुर खीरी जाने की तैयारी करने लगे और सभी विरोधी दल सरकार को घेरने में जुट गए क्योंकि मामला जुड़ा था। केन्द्रीय राज्य मंत्री और उनके बेटे से लोगों का आरोप है की मंत्री जी के बेटे ने गाड़ी किसानों पर चढाई है जिससे कई किसानों की मौत हो गई।

पुलिसवालों की प्रियंका गांधी ने लगाई फटकार

साफ्ट लेडी की पहचान से जाने जाने वाली प्रियंका गांधी के ऐसे आक्रामक तेवर किसी ने कभी नहीं देखा होगा। सभी विरोधी दल लखीमपुर खीरी जाने की सोच रही थे की प्रियंका गांधी निकल पड़ रात में ही लखीमपुर खीरी के लिए, लेकिन कुछ दूर पर ही पुलिस ने उन्हे रोक दिया। लोगों को अंदाजा नहीं था की, प्रियंका गांधी के तेवल तल्ख होंगे, पुलिसवालों की प्रियंका गांधी ने फटकार लगाई। फिर पुलिस उन्हे सीतापुर में नजर बंद कर दिया। नजर बंद कर दिया लेकिन वहां पर भी वह पूरी तरह एक्टिव थी। अलग-अलग अंदाज में वो रात भर मीडिया की सुर्खिया बनी रही। जब मौत का वीडियो आया तो उन्हो पीएम मोदी से भी सवाल पूछ लिया क्योंकि मौका था पीएम नरेन्द्र मोदी लखनऊ में अमृत महोत्सव में हिस्सा लेने आए हुए थे। उन्होने केन्द्रीय मंत्री और उसके बेटे की गिरफ्तारी की मांग की।

कार्यकर्ता गेस्ट हाऊस के बाहर डाला डेरा

प्रियंका नजर बंद रही लेकिन उनका हौसला नहीं पस्त हुआ और हर हाल में लखीमपुर खीरी जाने में अड़ी हुई थी। फिर क्या सीतापुर में उमड़ने लगा हुजुम, हजारों कांग्रेसी कार्यकर्ता गेस्ट हाऊस के बाहर डेरा डाल दिया। बकायदे टेंट लग गया और स्टाल भी लग गया और पूड़ी सब्जी बनने लगा। प्रियंका गांधी ने कार्यकर्ताओं के साथ वर्चुआल संबोधन भी किया

सचिन पायलट को भी रोका गया

प्रियंका गांधी पीएसी गेस्ट हाऊस में तीन दिनों तक हिरासत में थी। प्रियंका गांधी लगातार कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के संपर्क में थी। धीरे धीरे कांग्रेसी कार्यकर्ता और नेता लगे सीतापुर का रुख करने लगे। कांग्रेसी नेता सचिन पायलट भी राजस्थान से चल दिए पूरे दल बल के साथ लेकिन यूपी में एंट्री होते ही उन्हे रोक दिया गया।

बच्चे पूछ रहे है, मम्मी कब आएंगी

जब प्रियंका गांधी गेस्ट हाऊस के कमरे में झाड़ू लगा रही थी तो पूरे देश की निगाहे उन्हे देख रही थी। शायद ये पहला मौका होगा जब प्रियंका गांधी को झालू लगाते कोई वीडियो देखा होगा। जिसके बाद प्रियंका गांधी के पति राबर्ट वाड्रा  ने भी उनको हिरासत में लिए जाने वाले सरकार के फैसले को गलत ठहराते हुए भावुक हो गए। उन्होने कहा बच्चे पूछ रहे है मम्मी कब आएंगी।

तो ये था अभी ट्रेलर पिक्चर तो अब बनेगा जब प्रियंका के भाई राहुल गांधी लखीमपुर खीरी के सियासी दौड़ में शामिल होगें। राहुल गांधी एक तीर से कई निशाना साधने के लिए दिल्ली से ही ऐलान कर दिया और चल दिए लखनऊ के लिए।