आज है आश्विन शुक्ल द्वितीया, रखें इन बातों का ध्यान

आज शुक्रवार, आश्विन शुक्ल द्वितीया तिथि है।
आज स्वाति नक्षत्र, “आनन्द” नाम संवत् 2078 है

आज का पंचांग

शुक्ल पक्ष प्रतिपदा

शरद ऋतु

नवरात्रि प्रारम्भ

चंद्र दर्शन

नक्षत्र: चित्रा

आज का दिशाशूल: दक्षिण दिशा

आज का राहुकाल: 1:42 PM – 3:09 PM

सूर्य और चंद्रमा का समय

सूर्योदय – 6:24 AM

सूर्यास्त – 6:04 PM

चन्द्रोदय – 07 अक्टूबर 7:00 AM

चन्द्रास्त- 07 अक्टूबर 6:59 PM

शुभ काल

अभिजीत मुहूर्त – 11:51 AM– 12:38 PM

अमृत काल – 03:23 P – 04:50 PM

ब्रह्म मुहूर्त – 04:48 AM– 05:36 AM

योग

वैधृति -07 अक्टूबर 05:12 AM – 08 अक्टूबर 01:39 AM

विष्कुम्भ – 08 अक्टूबर 01:40 AM– 08 अक्टूबर 10:03 PM

रखें इन बातों का ध्यान

  • नवरात्र में श्रीदुर्गा सप्तशती का सकाम या निष्काम भाव से संयत रहकर पाठ करना आवश्यक है।
  • नवरात्र में पूजन सात्विक होना चाहिए, तामस नहीं।
  • पूजन वेद विधि या सम्प्रदाय निर्दिष्ट विधि से होना चाहिए।
  • शारदीय नवरात्र पूजा की शुरुआत भगवान रामचन्द्र जी ने समुद्र तट पर से की थी।
  • विधिपूर्वक स्थापित घट (कलश) पूजन से 9 दिनों में जल अमृतमय हो जाता है।
  • नवरात्र के 9 दिन या समाप्ति के दिन 9 कुमारियों के चरण धोकर उन्हें देवी रूप मानकर पूजा – अर्चना करना चाहिए।एक कन्या की पूजा से ऐश्वर्य की, दो की पूजा से भोग और मोक्ष की प्राप्ति होती है।
  • तीन कन्या की अर्चना से धर्म, अर्थ, काम – त्रिवर्ग की, चार की अर्चना से राज्य पद की, पॉंच की पूजा से विद्या की प्राप्ति होती है।छह की पूजा से षट्कर्म सिद्धि की, सात कन्या की पूजा से राज्य की प्राप्ति होती है।
  • आठ कन्या की अर्चा से सम्पदा की और नौ कुमारी कन्याओं की पूजा से पृथ्वी के प्रभुत्व की प्राप्ति होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *