तमाम सियासी उठापटक के बीच लखीमपुर खीरी जाने पर अड़ी कांग्रेस

पहले लखनऊ एयरपोर्ट पर रोका गया राहुल का काफिला

लखनऊ- लखीमपुर खीरी में किसानों व बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प के बाद पूरे प्रदेश में मचे सियासी घमासान के बीच अब कांग्रेस लखीमपुर खीरी जाने पर अड़ी हुई है। आज दिनभर चले राजनैतिक घटनाक्रम के बाद आखिरकार राहुल गाँधी को लखीमपुर खीरी जाने की इजाजत दे दी गई है। सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक राहुल गाँधी को पहले प्रशासन द्वारा लखनऊ एयरपोर्ट पर रोका गया लेकिन लखीमपुर खीरी जाने पर अड़े राहुल गाँधी को मनाने में प्रशासन की नाकामी देखे जाने व आखिरकार ऊपर से मिली इजाजत के बाद उन्हें पहले अपनी बहन प्रियंका से मिलने सीतापुर व फिर लखीमपुर खीरी जाने की इजाजत दे दी गई।

सीतापुर में ही हैं प्रियंका गाँधी

लखीमपुरखीरी कांड के बाद से पहले दिन से ही सक्रिय कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी लगातार मृत किसानों से मिलने की अपनी मांग पर अड़ी हुई हैं। इस दौरान उन्हें सीतापुर के ही एक गेस्ट हाउस में रखा गया हैं। अपनी  नजरबंदी के दौरान उनके झाड़ू लगाने की तस्वीरें भी दुनियां के सामने आ चुकी हैं तो वहीं कल नजरबंदी से लखीमपुरखीरी जाने की कोशिश के दौरान उनकी पुलिस से झड़प हो गयी थी। सूत्र बताते हैं कि आज राहुल गाँधी के आने के बाद, प्रियंका गांधी उनके साथ ही लखीमपुर खीरी के किसानों से मिलने जा सकती हैं।

पीड़ित परिवारो से मिल हालचाल लेंगे राहुल गाँधी

फिलहाल राहुल गाँधी का काफिला अभी सीतापुर की सीमा  पर पहुँच चुका है, लेकिन वो बहन प्रियंका के साथ जल्द ही लखीमपुर खीरी के लिये रवाना होंगे और वहाँ पहुँच कर मृत किसानों के परिजनों से  मुलाकात करेंगें। इसके साथ ही वो किसानों के परिजनों के साथ वार्तालाप कर उन्हें शोक सांत्वना देंगे। उधर राहुल व प्रियंका गाँधी के संभावित दौरे को देखते हुये जनपद के प्रशासन को अलर्ट कर दिया गया है, साथ ही प्रशासन को पल पल की निंगरानी करने को कहा गया है।