आदिवासी महिला के साथ दुष्कर्म पादरी ने करवाया गर्भपात

प्रदेश में लगातार धर्मांतरण के मामले दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं जिस पर भाजपा मुखर होकर धर्मांतरण के मुद्दे को जोर शोर से उठा रही है। दंतेवाड़ा जिले के गीदम थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक मामला प्रकाश में आया है।

धर्मांतरण और शोषण का आरोप

जहां एक चर्च के पादरी ने आदिवासी विधवा महिला का गर्भपात करवा दिया है। यह पादरी उस आदिवासी विधवा महिला को 4 साल से लगातार दैहिक शोषण करता आ रहा था। गर्भ ठहरने के बाद समाज में बड़े रुतबे का धौंस दिखाकर जबरदस्ती महिला का गर्भपात गोली खिलाकर करवा दिया।  गोली खिलाने के बाद पीड़ित महिला की तबियत बिगड़ने पर जिला अस्पताल में एडमिट हो गई है।  परिजनों ने मामले को लेकर गीदम थाने में एफआईआर दर्ज करवाई है। इस मामले पर भाजपा महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष ओजस्वी मंडावी ने आदिवासियों का धर्मांतरण और शोषण का आरोप लगाकर कार्यवाही की मांग की है और उक्त आदिवासी विधवा महिला को न्याय दिलाने की बात कही।

पास्टर की एक बेटी भी

गीदम अटल आवास में रहने वाले चर्च के पादरी बाबूलाल पास्टर शादीशुदा है और उनके एक बेटी भी 14 साल की है। बावजूद इसके उक्त आदिवासी महिला सुशीला कश्यप के साथ लगातार झांसा देकर दहेज शोषण करता रहा और जब गर्भ ठहरने की बात महिला ने पादरी को बताई, तो उसने समाज में बड़ी इज्जत होने बात कहकर गर्भ को गिरा देने का दबाव बनाया।