कृषि के साथ अब पर्यटन के लिए भी खुले हरियाणा के द्वार

एक कृषि प्रधान राज्य से स्पोर्ट्स हब बनने के बाद अब हरियाणा पसंदीदा पर्यटन केंद्र के रूप में भी जाना जाएगा। राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने और पंचकूला को पर्यटन की दृष्टि से एक नया केंद्र बनाने की परिकल्पना के मद्देनजर तैयार की गई। व्यापक योजना के तहत मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मोरनी के टिक्कर ताल में विभिन्न साहसिक खेल गतिविधियों जैसे पैरासेलिंग, पैरामोटर और जेट स्कूटर का उद्घाटन किया। एक ओर जहां राज्य में पर्यटन के विकास के लिए हरियाणा सरकार के निरंतर प्रयासों को बढ़ावा मिलेगा, वहीं दूसरी ओर युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

एडवेंचर प्रेमियों के लिए टिक्कर ताल बना नया हब

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मोरनी के टिक्कर ताल में विभिन्न साहसिक खेल गतिविधियों जैसे पैरासेलिंग, पैरामोटर और जेट स्कूटर का उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री द्वारा टिक्करताल में किए गए इस औपचारिक उद्घाटन के साथ ही अब मोरनी हिल्स के टिक्कर ताल में ये विभिन्न एयरो व वाटर स्पोर्ट्स गतिविधियां व्यावसायिक रूप से संचालित हो गई हैं।

रीति रिवाजों से  होंगे परिचित 

सीएम ने कहा कि होम स्टे योजना के तहत स्थानीय निवासी अब पर्यटकों और आगंतुकों को व्यावसायिक आधार पर उचित मूल्यों पर घर को रहने के लिए दे सकते हैं। इस प्रकार पर्यटकों को होटलों के व्यावसायिक वातावरण के बजाय स्थानीय रीति-रिवाजों, व्यंजनों आदि के अनुभव के साथ रहने के लिए स्वच्छ और सस्ती जगह उपलब्ध होगी।

 

वाटर पुलिंग पॉलिसी बनेगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में जलभराव की समस्या के समाधान के लिए जल्द ही वाटर पुलिंग पॉलिसी लाई जाएगी। इसके तहत जिन क्षेत्रों में जलभराव की समस्या है, वहां पर लेक का निर्माण किया जाएगा, ताकि भूमि सुधार के साथ-साथ पर्यटन को बढ़ावा दिया जा सके। इससे हरियाणा को 40.7 प्रतिशत पानी मिलेगा।