खेत के पानी में उतरता मिला 4 साल कि बच्ची का शव

अलीगढ़ : थाना गोंडा इलाके के गांव नगला बिरखू में सोमवार  सुबह धान के खेत में 4 साल की बच्ची का शव मिलने के मामले में पुलिस ने  खुलासा कर दिया है। एसपी देहात शुभम पटेल ने बताया है कि पकड़ा गया युवक गांव का ही अर्जुन है। जिसने लड़की के साथ साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया और फिर वहीं मौजूद एक पानी से भरे गड्ढे में ले जाकर उसकी पानी में डुबोकर हत्या कर दी और फरार हो गया।

यह था मामला

मामला गांव नगला बिरखू का है। रविवार को इसी गांव में एक बुजुर्ग ने पडोसी युवक के घर पर हमला बोलकर उसकी गडासे से काटकर हत्या कर दी थी। बाद में अपने घर जाकर खुद को भी तमंचे से फायर कर सुसाइड कर लिया था। देर शाम युवक का शव जब गांव में पहुंचा तो पूरा गांव उसकी अंतिम यात्रा में शामिल हुआ था। गांव में मेहनत मजदूरी कर परिवार का पालन पोषण करने वाला रवेंद्र पाल ने भी पत्नी राखी देवी के साथ अंतिम यात्रा में शामिल होने गया था। बच्चों को वह परिवार में ही छोड़ गया था। बच्चे घर पर खेल रहे थे। खेलते-खेलते उसकी चार वर्षीय बेटी घर से बाहर आ गई और अचानक लापता हो गई। परिजनों ने आसपास काफी तलाश की, रिश्तेदारों में संपर्क किया, लेकिन कोई सुराग नहीं लग सका। थक हारकर देर रात थाने जाकर अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस जांच पड़ताल में जुटी थी। उधर, परिजन भी अपने स्तर से तलाश कर रहे थे।

घर से महज 400 मीटर की थी दूरी

सोमवार सुबह करीब 11 बजे बेटी के मामा को किसी परिचित से सूचना मिली कि एक बच्ची घर के पास ही खेत में पडी है। यह सुनते ही परिजन घर से महज 400 मीटर की दूरी पर स्थित खेत में दौड़ पड़े। वहां देखा तो मृत पडी बच्ची की शिनाख्त लापता बेटी के रूप में हुई। बच्ची को मृत देखकर परिजन बिलख पड़े। सूचना पर थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई। देखा कि बच्ची का निचला हिस्सा खून से लथपथ था। खेत में बने एक गड्ढे में पानी भरा होने के कारण बॉडी फूल गई थी।

ग्रामीणों ने पुलिस के खिलाफ करी नारेबाजी

पुलिस ने आनन-फानन में शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। पुलिस की इस कार्यप्रणाली से नाराज होकर परिजनों व अन्य ग्रामीणों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। देखते ही देखते सडक पर जाम लगा दिया। पुलिस के आला अधिकारी गांव पहुंच गये। उन्होंने ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह नहीं माने। जाम लम्बा लगता देख पुलिस ने ग्रामीणों ने लाठीचार्ज कर दिया।विरोध में ग्रामीणों ने भी पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया।जिसमें एक दारोगा घायल हो गया। वहीं सीओ की गाडी के शीशे भी टूटे है।