बिजेपी का मिशन 84 ?

यूपी में जैसे जैसे विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं वैसे वैसे सूबे का सियासी पारा और गर्म होता जा रहा है –सभी दल अपनी अपनी रणनीति बनाने में जुट गए है. बीजेपी में मैराथन बैठकों का दौर जारी है. योगी आदित्यनाथ ने खुद ही कमान संभाल ली है. 2017 में हारी हुई सीटों पर बीजेपी की मैराथन बैठक हुई. सीएम योगी ने एक-एक सीट की समीक्षा की

सीएम योगी  ने हारी हुई 84 सीटें जीतने के लिए खुद कमान संभाल ली है। उन्होंने अपने साथ प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को भी इस मिशन में शामिल किया है । पार्टी ने 2017  में 315 सीटों पर जीत दर्ज की थी और 72 सीटें हारी थी। उपचुनाव में 4 सीटें और गवां दी, 2017 के चुनाव में सुभासपा को 8 सीटें दी गई थीं वो अब पार्टी के साथ नही है इसलिए इन सीटों को भी हारा हुआ मान लिया गया है। इस तरह कुल मिलाकर 84 हारी हुई सीटों की कमान योगी ने संभाल ली है

सपा ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा की साढ़े चार सालों में योगी सरकार ने कितना काम किया है ये सब जनता को पता है–कांग्रेस ने कहा की योगी सरकार साढ़े चार सालों में केवल ठगने का काम किया है

कांग्रेस ने भी बीजेपी सरकार के काम पर सवाल उठाया है. कांग्रेस का कहना है साढ़े चार साल में हर मोर्चे पर विफल रही है योगी सरकार

तो वहीं दूसरी तरफ कन्नौज में मूर्ति का अनावरण करने पहुंचे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बड़ी बात कही है–उन्होने कहा अगर सपा की सरकार बनती है तो गरीबों को मुफ्त बिजली और बेरोजगारों को नौकर दी जाएंगी—

बैरहाल चुनावी मौसम में बैठकों और चुनावी वादों का दौर जारी है–अब देखने वाली बात होगी आखिर सूबे की जनता क्या चाहती है