नगर निगम का नोटिस पाते ही एक को हार्टअटैक, दूसरे ने की आत्महत्या

खबर दुर्ग से है जहां नगर निगम दुर्ग का नोटिस सिद्धार्थ नगर के परिवारों को पिछले हफ्ते दिया गया था।  जिस ज़मीन में यह परिवार रहते हैं वो अवैध है। यहीं कारण है कि निगम कर्मी बृजेश ने फांसी लगाकर आत्म हत्या  कर ली। वार्ड के नागरिकों ने जमकर नारेबाजी कर कोतवाली थाने के सामने प्रदर्शन किया और जिम्मेदारों पर कार्यवाही की मांग दोहराई है। आत्महत्या के इस  मामले में परिजन कार्यवाही कर अपना हक़ मांग रहें हैं वहीं पुलिस ने मौके से मिली जानकारी के आधार पर मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

7 परिवारों को जारी किया नोटिस

दुर्ग नगर निगम के अंतर्गत आने वाले सिद्धार्थ नगर वार्ड 31 में निगम ने 7 परिवारों को नोटिस जारी किया गया। निगम ने 3 दिनों के भीतर अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए थे। पिछले 50-60 वर्षों से निवासरत 7 परिवार नगर निगम की इस एकाएक कार्रवाई के चलते सख्ते में आ गए और नोटिस मिलते ही परिवार के सदस्य दिलीप गुजरिया को हार्ट अटैक आ गया।

हाथ व गले की नस काटकर कि आत्महत्या

वहीं निगम के नोटिस ने ब्रजेश गुजरिया को ऐसा प्रभावित किया कि उसने डिप्रेशन में आकर अपने हाथ व गले की नस काटकर आत्महत्या कर ली। इस घटना से आक्रोशित पीड़ितों और वार्ड वासियों ने दुर्ग कोतवाली थाने का घेराव किया और 50-60 वर्षों बाद निगम के द्वारा की गई इस कार्रवाई पर अपना विरोध जताया।

परिजनों ने ब्रजेश गुजरिया की मौत के लिए निगम अधिकारियों को दोषी ठहराया और एफ आई आर दर्ज करने की मांग की पीड़ितों की शिकायत पर दुर्ग कोतवाली थाना पुलिस ने मर्ग कायम कर इस पूरे मामले की विवेचना प्रारंभ कर दी है। उन्होंने कहा की जांच के बाद तथ्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।