एआरटीओ के भष्टाचार मामले में सीएम योगी ने जाँच टीम गठित कर, दिये जाँच के निर्देश

विधायक की शिकायत के बाद गठित हुई जाँच टीम

बाँदा- जनपद में  तैनात एआरटीवो के खिलाफ स्थानीय विधायक की शिकायत के बाद उनके खिलाफ सरकार द्वारा एक्शन ले लिया गया है। सीएम योगी तक बात पहुँचने के बाद उन्होने जाँच टीम गठित कर एआरटीओ के खिलाफ जाँच के निर्देश दिये हैं। सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक स्थानीय विधायक व बुंदेलखंड विकास बोर्ड के सदस्य जगराम सिंह द्वारा ऐआरटीओ द्वारा किये जा रहे भष्टाचार की शिकायत के बाद उन पर ये ऐक्शन लिया गया है, अगर जाँच में आरोप सही पाये गये तो उन पर गाज गिरना तय है।

जानिये क्या है पूरा मामला

सूत्र बताते हैं कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी भष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति को धता बताकर एआरटीओ शंकर सिंह  द्वारा किये जा रहे भष्टाचार के खिलाफ बुंदेलखंड विकास बोर्ड के सदस्य  जगराम सिंह द्वारा जो शिकायत की गई है, उस हेतु भेजे गये पत्र में उन्होने   जाँच हेतु शीघ्र कमेटी गठित करने व  अनियमितताओं को लेकर ऐक्शन की माँग की है। उधर ऐआरटीओ द्वारा पीड़ित एक व्यकित उदयवीर सिंह ने भी गाड़ी खड़ी करने को लेकर उन पर अभद्रता करने का आरोप लगाया है।

बस आपरेटर ने भी लगाया अभद्रता का आरोप

उन पर उपरोक्त दोनो लोगों के अलावा भी कई अन्य लोगों ने अव्यवहारिक होने का आरोप लगाया  है। बस आपरेटर टिंकू पांडेय ने भी आरोप लगाया कि एआरटीओ शंकर सिंह अभद्रता व गालीगलौज से बात करते हैं, और फर्जी कार्रवाई की धमकी देते हैं, जबकि मेरे सभी कागज कम्पलीट हैं।