बिजली गिरने से हुई गरीब के पशुओं की मौत, लेकिन नौकरशाहों को कोई फर्क नहीं पड़ता!

अचानक गिरी आकाशीय बिजली

प्रयागराज:  बारिश हो या आकाशीय बिजली लेकिन अगर इनकी आफत को कोई सबसे ज्यादा शिकार होता है तो वो है  देश का आम आदमी। आज एक ऐसी ही आकाशीय बिजली की आफत सामने आयी है जनपद के मेजा ब्लॉक की अमौरा ग्राम पंचायत से। जहाँ के एक परिवार के मुखिया माता जतिन के कई पशु इस आसमानी आफत की चपेट मे आ गये, जिसमें एक बछिया, एक गाय व एक भैंस शामिल है। सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक गरीब परिवार के पास यही एक जीवन यापन का सहारा था, लेकिन उसे भी ईश्वर ने उनसे छीन लिया। उधर घटना के बाद से परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है।

नहीं प्रशासनिक पहुँचे जिम्मेदार

यूँ तो सरकार ने आकाशीय बिजली गिरने, या अन्य किसी प्राकृतिक आपदा की चपेट में होने वाली मौत के मामले में प्रशासनिक अधिकारियों को वहाँ जाकर स्थिति से तत्काल अवगत कराने के निर्देश दे रखे हैं, ताकि आपदा के पीड़ित व्यकित की आर्थिक सहायता की जा सके, लेकिन अफसर तो अफसर हैं उन्हें सरकारी आदेश से कोई फर्क नहीं पड़ता। सूत्रों ने हमें दी गई जानकारी में बताया कि सूचना देने के बाद भी अब तक गरीब परिवार की मदद करने का आश्वासन देने या कागजी कार्रवाई करने कोई भी अधिकारी मौके पर नहीं पहुँचा है, जिससे साफ जाहिर होता है कि अधिकारियों के अन्दर शासन का कोई भय नहीं बचा है।