लेन देन के चक्कर में मासूम को उतारा मौत के घाट

झांसी के मऊरानीपुर थाना क्षेत्र के धौर्रा गांव में पैसों का लेनदेन गहरा गया। जिसमें नाबालिक लड़की की धारदार हथियार मारकर हत्या कर दी गई, मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। जिसके बाद घटनास्थल का निरीक्षण किया गया। डॉग स्क्वायड लगाया गया। फॉरेंसिक टीम ने मामले से जुड़ी चीजों को एकत्र किया, पुलिस ने 7 नामजद और 2 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। एसएसपी झांसी ने बताया कि मृतका के पिता बबलू प्रजापति द्वारा सूचना दी गई थी, इसके बाद पुलिस ने यह कार्रवाई की है।

हमलावरों के चंगुल में फंसी 13 वर्षीय पुत्री

शुक्रवार की सुबह पिता-पुत्री नदी से कपड़े धोने के बाद घर वापस जा रहे थे, लेकिन बीच रास्ते में पहले से घात लगाये बैठे बदमाशों ने पिता पर हमला बोल दिया। बदमाशों से बचने के लिये पिता भाग गया, लेकिन हमलावरों के चंगुल में उसकी 13 वर्षीय पुत्री आ गयी और हमलावरों ने ताबड़तोड़ प्रहार करने के बाद गला काटकर मासूम को मौत के घाट उतार दिया। मासूम की हत्या की खबर से गाँव में सनसनी फैल गयी। सूचना पाकर एसएसपी समेत कई थानों का पुलिस फोर्स मौ़के पर पहुँचा। पुलिस ने मौ़का-मुआयना कर शव को कब़्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिये भेज दिया।

लेन-देन के चलते मार दिया बेटी को

मृतका के पिता बबलू प्रजापति ने कहा कि वह गाँव के ही व्यक्ति का बटाई पर खेत लिये हुये है, जिसमें मूँगफली की फसल बोयी गयी है। प्रतिदिन की तरह आज सुबह वह अपनी पुत्री माया के साथ वहाँ गया था। खेत के बाद वह दोनों पास ही निकली नदी पर कपड़े धोने चले गये। वहाँ से जब वह वापस लौट रहा था तो उसने कपड़ों की थैली ले ली, जबकि पुत्री को कुल्हाड़ी दे दी। वह दोनों खेत के पास पहुँचे ही थे कि पहले से घात लगाये बैठे आठ लोगों ने हमला बोल दिया। यह देख वह मौ़के से भाग गया, पुत्री वहीं छूट गयी। इस पर आरोपियों ने पुत्री से कुल्हाड़ी छीनकर उसकी हत्या कर दी। बबलू प्रजापति ने बताया कि मामला पैसों के लेन-देन का है। 6 वर्ष पहले आरोपी पक्ष ने उससे 30 ह़जार रुपये लिये थे। कई बार उसने यह रुपये माँगे, पर हर बार बहाना बनाकर टाल दिया गया। बबलू ने बताया कि उसने आरोपियों से कहा था कि यदि उनका पैसा नहीं मिलता है तो वह गाँव में पंचायत बुलायेगा। आरोप लगाया कि रुपयों के लेन-देन के चक्कर में उसकी पुत्री की हत्या की गयी है।

डॉग स्क्वॉड व फॉरेन्सिक टीम ने की जाँच-पड़ताल

धौर्रा गाँव में मासूम की हत्या की खबर पर पुलिस के आला अधिकारी मौ़के पर पहुँचे। स्थिति को देखकर डॉग स्क्वॉड व फॉरेन्सिक टीम को बुलाया गया। टीम ने मौ़का-मुआयना कर हर पहलू की जाँच की।

छावनी में तब्दील हुआ गाँव

जिस तरह से दिनदहाड़े मासूम की हत्या की गयी, इसके बाद से गाँव में दहशत का माहौल है। घटना के बाद कोई अप्रिय घटना फिर ने घट जाये, इसके लिये पूरे गाँव को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस फोर्स को तैनात कर दिया गया है।

8 लोगों के खिला़फ मु़कदमा दर्ज

धौर्रा गाँव में मासूम की हत्या के मामले में पुलिस ने 8 लोगों के ख़्िाला़फ धारा 147,148,149, 307, 302 के तहत मामला दर्ज किया। पुलिस टीम के साथ डॉग स्क्वॉड ने हत्या में प्रयुक्त कुल्हाड़ी की बरामदगी के लिये खेतों के आसपास झाड़ियों में छानबीन की। काफी देर की कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस को आला ़कत्ल झाड़ियों में मिल गया।