बेटी के पैदा होने पर, ससुरालवालों ने की माँ को मारने की कोशिश

21वीं सदी में आज भी बेटी का पैदा होना कहीं न कहीं शर्म की बात मानी जाती है। बांदा के अतर्रा थाना क्षेत्र के ग्राम ओरहा से एक ऐसा ही घटना सामने आई । जहां लड़की के पैदा होने पर ससुरालवाले बच्ची को मार देना चाहते थे। वहीं नवजात बच्ची को बचाने के चक्कर में  माँ को ससुरालीजनों और पति ने जमकर पीटा।

पुलिस नहीं दे रही साथ

सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे मायके वालों को भी ससुरालीजनों ने कुल्हाड़ी और लाठी डंडो से मार-मारकर  लहूलुहान कर दिया ।सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन सभी घायलों का उपचार जिला अस्पताल में जारी है। पीड़ित महिला का आरोप है कि उसके पति के भाभी से नाजायज संबध है। अक्सर  पति मारपीट करता रहता है। इससे पहले भी एक बार  मरणासन हालत में नाले में फेंक चुका है। पीड़िता ने यह भी आरोप लगाया है कि थाने में  किसी भी  तरह की सुनवाई नही हुई है।पुलिस भी साथ नही दे रही है, उल्टा पुलिस वालों ने  पीड़िता के भाई को मारा है।

21वीं सदी में आज भी बेटी का पैदा होना कहीं न कहीं शर्म की बात मानी जाती है। बांदा के अतर्रा थाना क्षेत्र के ग्राम ओरहा से एक ऐसा ही घटना सामने आई । जहां लड़की के पैदा होने पर ससुरालवाले बच्ची को मार देना चाहते थे। वहीं नवजात बच्ची को बचाने के चक्कर में  माँ को ससुरालीजनों और पति ने जमकर पीटा।

पुलिस नहीं दे रही साथ

सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे मायके वालों को भी ससुरालीजनों ने कुल्हाड़ी और लाठी डंडो से मार-मारकर  लहूलुहान कर दिया ।सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन सभी घायलों का उपचार जिला अस्पताल में जारी है। पीड़ित महिला का आरोप है कि उसके पति के भाभी से नाजायज संबध है। अक्सर  पति मारपीट करता रहता है। इससे पहले भी एक बार  मरणासन हालत में नाले में फेंक चुका है। पीड़िता ने यह भी आरोप लगाया है कि थाने में  किसी भी  तरह की सुनवाई नही हुई है।पुलिस भी साथ नही दे रही है, उल्टा पुलिस वालों ने  पीड़िता के भाई को मारा है।