ग्राम प्रधान के दफ्तर में खूनी खेल, लाइसेंसी बंदूक से चली गोली

हरचंदपुर पुलिस का इकबाल खत्म होता उस समय दिखा जब लाइसेंसी बंदूक से दबंगों ने एक युवक का भेजा उड़ा दिया। घटना के बाद पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई। मौके पर अपर पुलिस अधीक्षक सहित लगभग आधा दर्जन थानों की पुलिस पहुंचकर मोर्चा संभाला। तब कहीं जाकर ग्रामीण व परिजन शव के पोस्टमार्टम के लिए राजी हुये। मामला हरचंदपुर थाना क्षेत्र के गढ़ी खास के प्रधान लक्ष्मीकांत के गेस्ट हाउस का है। इसी गेस्ट हाउस में खुलेआम लाइसेंसी बंदूक रखी गई थी। जिससे इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया गया।

लाइसें बंदूक से उतारा मौत के घाट

रायबरेली के हरचंदपुर इलाके में काफी हड़कंप मच गया, जब दबंगों ने लाइसेंसी बंदूक से एक युवक को मौत के घाट उतार दिया है। युवक की हत्या करने के बाद इलाके में सनसनी मच गई है। मौके पर अपर पुलिस अधीक्षक के साथ साथ लगभग आधा दर्जन थानों की पुलिस (UP Police) ने मौके पर पहुंचकर पूरे मोर्चे को संभाला। तब कहीं जाकर ग्रामीण व परिजन शव के पोस्टमार्टम के लिए हां किया गया।

कहां का है मामला

ये मामला हरचंदपुर थाना क्षेत्र के गढ़ी खास के प्रधान लक्ष्मीकांत के गेस्ट हाउस का है। गेस्ट हाउस में दो लाइसेंसी बंदूके पहले से ही रखी हुई थी। ये बताया जा रहा है कि देर शाम राजवीर नाम के एक युवक व उसके साथी ने लाइसेंसी बंदूक से उसी गेस्ट हाउस में रहने वाले शुभम को गोली मार दी, जिसके बाद उसकी हत्या हो गयी। जैसे ही हत्या की खबर इलाके में फैली, तो गेस्ट हाउस के सामने ग्रामीणों की भीड़ लग गई। भीड़ को बेकाबू देख कर 6 थानों की पुलिस फोर्स के साथ अपर पुलिस अधीक्षक विश्वजीत श्रीवास्तव ने भी इस मोर्चे को संभाला। घंटों की मेहनत के बाद परिजनों व ग्रामीणों को मृतक के शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए हां किया।

पुलिस ने किया दावा

अपर पुलिस अधीक्षक ने इस पूरे मामले पर कहा कि हरचंदपुर थाना क्षेत्र के गढ़ी खास के प्रधान लक्ष्मीकांत के घर पर शुभम, राजवीर और अन्य लड़के रहते थे। वहां सुरक्षा में तैनात गार्डों की लाइसेंसी बंदूक रखी देखी गयी थी। फोटो खिंचाते समय राजवीर की बंदूक से शुभम को एकाएक गोली लग गई, जिससे उसकी मौत हो गई. जो भी दोषी होगा उस पर अब कार्रवाई की जाएगी।