जनवादी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष हसीब खान पहुंचे उतरौला, राजनीतिक गलियारों में मची खलबली

बलरामपुर/उतरौला : जनवादी सोशलिस्ट पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष हसीब खान सैकड़ों गाड़ियों के साथ आज बलरामपुर के उतरौला पहुंचे कार्यकर्ताओं फुल के मालाओ से स्वागत किए में 2022 चुनाव को लेकर के संबोधित किए हजारों कार्यकर्ता मौजूद रहे अपने कार्यकर्ताओं को जोश भरते हुए हसीब खान बताएं कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव जनवादी सोशलिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय चौहान दोनों पार्टियां मिलकर 2022 में सत्ता से भाजपा को उखाड़ के फेंकेंगे 2022 में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाएंगे वही हसीब खान ने बताया कि हमारा मुद्दा शिक्षा स्वास्थ्य सड़क बिजली रहेगा हिंदू मुसलमान के मुद्दे पर हसीब खान ने बताया कि हिंदू के मुसलमान करने वाले संभल जाए मुसलमान के जेब में अगर रुपया है उसे गांधीजी का चित्र है तो उसे फाड़ कर फेंक दें अगर हिंदू मुसलमान की बात करता है तो उसके गाड़ी में जो पेट्रोल और डीजल है वह मुस्लिम देश से ही आते हैं उसको निकाल करके फेंक दें जिस दिन लोग हिंदू मुसलमान करने वालों का सडयत्र समझ जाएंगे उस दिन हिंदू-मुसलमान करने वालों की दुकान खत्म हो जाएगी हम व्यापारी हैं लेकिन कोरोना काल ने हमें राजनीतिक बना दिया सैकड़ों गरीब मजदूर मजलूम लोगों को गुजरात दिल्ली हैदराबाद पंजाब में फंसे थे हमने बस के द्वारा उन लोगो मंगाया था लोगों को चावल दाल खाने मैंने की सामग्री वितरण किया था लोगों ने हमें बहुत प्यार दिया उसके बाद दिल में एक इच्छा जागी थी अब राजनीति में आना है गरीब मजदूर मजलूम और उतरौला विधानसभा से चुनाव लड़ना है उतरौला विधानसभा की जनता अगर हमें चुनाव जीत आएगी तो सबसे पहले यहां स्वास्थ्य शिक्षा सड़क बिजली मेरा प्रथम काम करने का उद्देश होगा यहां के लोग वोट तो विधायक को देते हैं लेकिन जब दवा कराना होता है तो लखनऊ और गोंडा को जाना पड़ता है ऐसा क्यों है यही बदलने आया हूं,कार्यक्रम को मंडल अध्यक्ष महेश चौहान, जिलाध्यक्ष मानसिंह चौहान, चौहान विकास समिति के संरक्षक रामसागर चौहान, सूरज चौहान ,सोनू चौहान रिंकू लाल, महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष सरजना देवी ,उत्तम चौहान ,शकील, वीरभान, संतोष, सहारत रजा, वकार सिद्दीकी ,अनवर खान, जावेद खान ,अब्दुल हमीद ,दोस्त मोहम्मद, असलम ,जमालुद्दीन, नसरुद्दीन, मोहम्मद इब्राहिम, करीम खान सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे