ट्रक से निकालकर फाड़ा पाकिस्तानी झंडा, तालिबानियों फिर दी धमकी

दुनियाभर में पाकिस्तान तालिबान की हर दिन तरफदारी कर रहा है। वहीं, तालिबान सरकार अपने बयानों से यह दिखने की कोशिश कर रहे हैं कि उन पर किसी भी देश का दबाव नहीं है। तालिबान लड़ाकों ने अफगानिस्तान में राहत सामग्री लेकर आने वाले ट्रक पर लगा पाकिस्तान झंडा फाड़ दिया। तालिबानी लड़ाकों ने पाकिस्तान का खुलकर विरोध भी किया।

क्या था पूरा मामला
तालिबानी लड़ाकों ने जैसे ही ट्रक पर पाकिस्तानी झंडा लगा देखा तो वो गुस्से में आग बबूला हो गए। उन्होंने आपत्ति जताई कि ये झंडा क्यों लगा हुआ है, फिर उन्होंने झंडा तुरंत निकाल दिया और कैमरे के सामने ही उसे फाड़ भी दिया। इसके बाद गुस्से में एक लड़ाका ट्रक वाले को धमकी भी देता है। गौर करने वाली बात ये है कि जिस ट्रक से झंडा निकाला गया, उस पर पाक-अफगान को-ऑपरेशन फोरम लिखा हुआ था।

ठीक एक दिन पहले ही तालिबान ने पाकिस्तान को दो टूक जवाब दिया है। तालिबान ने कहा कि पाकिस्तान या किसी और देश को यह मांग करने का कोई अधिकार नहीं है कि अफगानिस्तान में कैसी सरकार बनेगी।

पाकिस्तान को लेकर तालिबान में गुटबाजी
तालिबान में मुल्ला बरादर और मुल्ला यूसुफ के नेतृत्व वाला गुट पाकिस्तान की बढ़ती दखलअंदाजी से चिढ़ा हुआ है. यही कारण है कि अफगानिस्तान में इस्लामिक अमीरात सरकार के ऐलान के बाद भी ये दोनों नेता काबुल से दूरी बनाए हुए हैं. मुल्ला बरादर को तालिबान सरकार में उप प्रधानमंत्री और मुल्ला यूसुफ को रक्षा मंत्री बनाया गया है. मुल्ला यूसुफ तालिबान सरगना मुल्ला उमर का बेटा और मुल्ला बरादर का भांजा है।