आयरन की कमी से होने वाले लक्षण, कैसे करें उनको पूरा

शरीर में विटामिन्स और मिनरल्स की कमी होने से कई प्रकार की समस्याएं होने लगती हैं। शरीर में आयरन की कमी होने पर हीमोग्लोबिन में कमी, एनीमिया, हार्ट और बालों जुड़ी बीमारियां होने लगती हैं। प्रेगनेंसी में महिलाओं और शिशु के स्वास्थ्य पर भी इसका असर पड़ता है। शरीर में आयरन की कमी को पूरा करने के लिए आयरन से भरपूर फूड्स का सेवन नियमित रूप से करना होता है। आयरन युक्त फूड्स का सेवन करने से आयरन की कमी दूर होती है और साथ ही खून और हीमोग्लोबिन की मात्रा भी अच्छी बनी रहती है।

आयरन युक्त पदार्थ

पालक

पालक हरी सब्जियों में पालक को सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है। पालक में भरपूर मात्रा में आयरन होने के साथ ही इसमें कैलोरी भी न के बराबर होती है। 100 ग्राम पालक में आंकलन करें तो 2.7 MG आयरन होता है।

चुकंदर

चुकंदर का जूस पीना या सलाद के रूप में खाना बेहद लाभकारी माना जाता है। चिकित्सक भी यही सुझाव देते हैं कि साधारण व्यक्ति भी यदि इसका सेवन करते हैं तो बीमारियों में लड़ने की क्षमता भी बढ़ती है। चुकंदर आयरन और खून की कमी को दूर करता है। इसके सेवन से शरीर को फोलिक एसिड, विटामिन बी, कैल्शियम, सल्फर, पोटैशियम आदि पोषक तत्व मिलते हैं। नियमित रूप से 100 ग्राम चुकंदर का जूस भी साधारण व्यक्ति के लिए पर्याप्त होता है।

कद्दू के बीज

कद्दू के बीज में आयरन की प्रचुर मात्रा होती है। करीब 28 ग्राम कद्दू के बीज में 2.5 मिलीग्राम आयरन होता है। इसके साथ ही इसके सेवन से मैग्नीशियम, विटामिन-K, जिंक और मैंगनीज भी शरीर को मिलता है।

फलियां

फलियां पोषक तत्व से भरपूर होती हैं। दाल (मूंग, मोठ), चने, मटर और सोयाबीन आदि के सेवन से आयरन प्रचुर मात्रा में मिलता है। शाकाहारी लोगों के लिए फलियां आयरन का अच्छा स्त्रोत है। 198 ग्राम पकी दाल में करीब 6.6MG आयरन होता है। आयरन के अतिरिक्त फलियों से फोलेट, मैग्नीशियम, फाइबर और पोटेशियम भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो शरीर के लिए बेहद गुणकारी होती हैं।

आयरन की कमी के लक्षण

1 आयरन की कमी से थकान, सिरदर्द, चक्कर आने लगते हैं
2 इससे सांस लेने में तकलीफ और बेचैनी होने लगती है
3 शरीर में आयरन की मात्रा कम होने पर बाल झड़ने लगते हैं
4 स्वभाव में चिड़चिड़ापन और त्वचा का रंग फीका पड़ने लगता है
5 आयरन कम होने पर स्किन ड्राई और नाखूनों का रंग सफेद होने लगता है
6 चेस्ट पेन और धड़कने तेज होने लगती हैं
7 कई बार आयरन की कमी से हाथ पैर ठंडे पड़ जाते हैं
8  कुछ मामलों में आयरन की कमी होने पर सोचने की क्षमता पर भी असर पड़ता है