कंगना पर मानहानी मामले में नया मोड़, 15 नवंबर को अगली सुनवाई

बॉलीवुड की बेबाक एक्ट्रेस और पंगा क़्वीन कंगना रनौत कभी विवादित बयानों को लेकर तो कभी फिल्मों को लेकर चर्चा में बनी रहती हैं। वह आए दिन सोशल मीडिया पर अपनी पोस्ट से फैन्स को दीवाना बना देती हैं। वहीं इन दिनों वह एक बार फिर चर्चा में आ गई हैं। दरअसल, जावेद अख्तर (Javed Akhtar) द्वारा अपने खिलाफ दायर मानहानि मामले की सुनवाई के लिए आज कंगना रनौत (Kangana Ranaut) कोर्ट में पेश हुईं।

दिग्गज गीतकार मामले की सुनवाई के लिए जहां समय से पहले ही अंधेरी कोर्ट में पहुंच गए, वहीं कंगना रनौत के वकील ने जानकारी दी थी कि अभिनेत्री जल्द ही पेश होंगी। कंगना जैसे ही कोर्ट में पेश हुई उसके बाद उनके वकील ने पूछा कि जब यह जमानती मामला है तो उनके क्लाइंट के कोर्ट में उपस्थित होने पर जोर क्यों दिया जा रहा है। वहीं यह सुनवाई 15 नवंबर तक के लिए स्थगित कर दी गई।

क्यों टली थी पिछली सुनवाई

पिछली सुनवाई में कंगना हाईकोर्ट के सामने पेश नहीं हुई थी। इसी के चलते अदालत ने सुनवाई सोमवार, 20 सितंबर तक बढ़ाकर टाल दी थी और साथ ही एक्ट्रेस के कोर्ट में पेश होने पर भी जोर दिया था। कंगना के वकील ने कहा था कि उन्हें कोविड के लक्षण हैं और यात्रा के कारण वे थकी हुई थीं, जिसके चलते वह कोर्ट नहीं पहुंच सकीं।

इस दौरान कंगना के वकील ने उनकी मेडिकल रिपोर्ट भी कोर्ट में पेश की थी और सात दिनों का समय मांगा था। लेकिन, जावेद अख्तर के वकील ने कहा कि यह मामले की कार्यवाही में देरी करने के लिए एक सुनियोजित रणनीति है। गीतकार के वकील ने आगे कहा कि रनौत ने किसी न किसी कारण से अदालत के सामने पेश होने से इनकार कर दिया है क्योंकि इस साल फरवरी में उन्हें समन जारी किया गया था। कोर्ट ने कहा कि इस बार पेश नहीं होने पर बॉलीवुड एक्ट्रेस के खिलाफ वारंट जारी किया जाए

15 नवंबर को होगी अगली सुनवाई

इसके बाद सुनवाई एक अक्तूबर तक के लिए टाल दी गई है। बता दें  कंगना ने ट्रांसफर ऑफ एप्लिकेशन दायर किया है इस पर सुनवाई 15 नवंबर को होगी।

कंगना के वकील रिजवान सिद्दीकी ने दलील दी कि जब यह मामला जमानती है तो कंगना का रोजाना अदालत आना क्यों जरूरी है। कंगना के वकील ने कोरोना के लक्षण का कारण बताते हुए कुछ दिनों की छूट देने की याचिका की थी। कोर्ट ने छह दिनों की राहत देते हुए 20 सितंबर के लिए सुनवाई टाल दी थी।