अवैध असलहे फैक्ट्री का भांडाफोड

हमीरपुर : जिले में सोमवार को पुलिस ने अवैध असलहे फैक्ट्री का भंडाफोड़ करते हुए दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने भारी मात्रा में असलहे और उपकरण बरामद किए हैं। दोनों आरोपी शातिर अपराधी हैं, जिनके खिलाफ कई गंभीर मामले दर्ज है। ये लोग विधानसभा चुनाव को लेकर बड़े स्तर पर असलहे तैयार कर रहे थे।

काली कमाई के लिए अवैध अवैध

विधानसभा चुनाव को लेकर जहां राजनीतिक दलों के नेता और प्रशासन तैयारी में जुटा है तो वहीं अपराधी भी काली कमाई करने के लिए अवैध असलहे की अवैध चलाने में लगे हैं। जिले के मौदहा कोतवाली क्षेत्र के सिलौली गांव में मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने अवैध असलहा फैक्ट्री पकड़ी है। एसपी कमलेश दीक्षित ने बताया कि सिलौली के रहने वाले अनिल कुमार उर्फ धुन्ना और टीहर गांव निवासी बलवंत यादव को गिरफ्तार किया गया है।

कोतवाली में है मामला दर्ज
एसपी ने बताया कि छापेमारी में 12 अवैध तमंचे (315 बोर), दो तमंचे देसी (12 बोर), पांच अधबने तमंचे, असलहे बनाने के उपकरण और बड़ी मात्रा में कारतूस मिले हैं। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार अनिल कुमार के खिलाफ मौदहा कोतवाली में गैंगेस्टर एक्ट समेत तीन मामले पहले से दर्ज हैं। वहीं, बलवंत के खिलाफ भी दो मामले मौदहा और बिंवार थाने में दर्ज हैं।

पांच हजार में बेचते थे अवैध असलहे
मौदहा कोतवाली के इंस्पेक्टर पवन कुमार पटेल ने बताया कि विधानसभा चुनाव में अवैध असलहे बेचने के लिए यह दोनों अपराधी अवैध असलहा फैक्ट्री चला रहे थे। सूचना पर दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। जिन्होंने पूछताछ में बताया है कि एक असलहा पांच हजार रुपये में बेचते थे। ये लोग आसपास के क्षेत्रों में भी अवैध असलहे बनाकर बेचते थे।