….और पंजाब के नये मुख्यमंत्री बनने से चूक गये सिद्धू!

आई अचानक बड़ी खबर, चन्नी होगें नये सदर

पंजाब: बड़े जज्बात थे मेरे, ये कुर्सी शायद मेरी हो…पर पता न था हमें शायद मेरी किस्मत ही तेरी हो। जी हाँ दोस्तों उम्मीद है कि आजकल पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष और कल दोपहर तक पंजाब के नये मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे नवजोत सिंह सिंद्धू आजकल कुछ ऐसा ही सोच रहे होंगे और अपनी किस्मत के बारे में कुछ यूँ ही गुनगुना रहे होंगे। तमाम राजनैतिक विश्लेषकों की माने तो कल दोपहर तक सीएम पद के लिये चरणजीत सिंह चन्नी के नाम के ऐलान से पहले तक सभी यही कयास लगा रहे थे कि लिस्ट में चाहे जो भी हो, लेकिन राजनीति में गुरू कहे जाने वाले नवजोत सिंह सिद्धू का नाम इस लिस्ट में सबसे ऊपर है और लगभग उन्हीं के चांस भी हैं, लेकिन अन्तत: वही हुआ जो अक्सर भाग्य के सरप्राइज गिफ्ट में होता है और इसी के साथ नवजोत सिह सिद्धू पंजाब के नये रहबर बनते बनते रह गये।

कयासों को धता बता सीएम बने चन्नी

नाटकीय घटनाक्रम के बीच पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद सीएम पद की रेस में  नवजोत सिंह सिद्धू समेत वैसे तो कई बड़े नाम शामिल थे, जिनमें एक नाम प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुनील सिंह जाखड़ व वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री अंबिका सोनी का भी लिया जा रहा था। हांलाकि इस बीच करीब दोपहर 1 बजे सुखविन्दर सिंह रंधावा को मुख्यमंत्री बनाये जाने की भी खबर आई लेकिन अन्तत: शाम करीब 4 बजे वरिष्ठ कांग्रेसी नेता चरणजीत सिंह चन्नी के नाम पर फाइनल मुहर लगा दी गई, और पंजाब के अगले मुख्यमंत्री के लिये  उनके नाम का ऐलान कर दिया गया।