सोनू सूद कि बढ़ी मुश्किलें, आईटी विभाग की टीम फिर पहुंची उनके घर

आईटी विभाग ने सोनू सूद से जुड़ी जगहों पर तलाशी के बाद 20 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी, 2.1 करोड़ रुपये के अवैध विदेशी दान, 65 करोड़ रुपये के फर्जी लेनदेन का दावा किया है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने कहा कि सोनू सूद ने 20 करोड़ की टैक्स चोरी की है। उनके चैरिटी फाउंडेशन, एक एनजीओ जिसे सोनू सूद चलाते हैं, उसे 2.1 करोड़ का विदेशी चंदा अवैध रुप से हासिल हुआ है. आईटी विभाग ने मुंबई, लखनऊ, कानपुर, जयपुर, दिल्ली और गुरूग्राम समेत कुल 28 जगहों पर सर्च ऑपरेशन किया।

टैक्स चोरी का लगा है आरोप!
खबर ये है कि सोनू सूद पर टैक्स चोरी का आरोप लगा है। उन्होंने एक डील में टैक्स चोरी की है, जिसमें लखनऊ की एक रियल एस्टेट कंपनी भी शामिल है। इस कंपनी में भी आयकर विभाग सर्वे कर रहा है। खबर एजेंसी पीटीआई के मुताबिक लखनऊ की इस रीयल एस्टेट कंपनी और सोनू सूद की फर्म के बीच एक लैंड डील हुई है, जिसका सर्वे आयकर विभाग कर रहा है।

कोरोना काल में कि लोगों की मदद

आपको बता दें कि 2020 में कोरोना के प्रकोप के वक्त लगे लॉकडाउन में सोनू सूद एक नए रूप में सामने आए थे. सोनू  ने कई जरूरतमंद लोगों की मदद की थी. सोनू ने हर किसी की अलग अलग तरीके से मदद की थी.  कोविड-19 की परिस्थितियों में लोगों की मदद करने के कारण वह लोगों के मसीहा बन गए थे. सोनू अभी भी लोगों की मदद कर रहे हैं.

सोनू सूद के काम के कारण उनको काफी सराहा भी जा रहा है। उनके सराहनीय कार्य के चलते कई ब्रैंड्स का एम्बेसडर बनाया गया और इतना ही नहीं, उनके एक के बाद एक फिल्मों के ऑफर भी मिलने शुरू हो गए।  हालांकि सोनू पर पहले भी फ्राड करने के आरोप भी लगे हैं।