झोलाछाप ने ली नवजात की जान

आगरा मे झोलाछाप के अस्पताल में महिला का जबरन बच्चे की डिलीवरी के लिए का ऑपरेशन कर दिया। झोलाछाप डॉक्टर के गलत ऑपरेशन के चलते बच्चे की मौत हो गयी। वहीं पेट की नसों सहित किडनी की नसे कटने से महिला की हालत गंभीर बनी हुई है। गांव की आशा के पति के साथ  प्रसूता पत्नी को बच्चे की डिलीवरी के लिए सीएससी केंद्र पति पहुंचा था, महिला नर्स ने झोलाछाप के यहां भेजा। पति का आरोप है कि मना करने के बाद भी झोलाछाप डॉक्टर ने ऑपरेशन कर दिया। फिलहाल पीड़ित परिवार ने झोलाछाप डॉक्टर एवं अस्पताल के खिलाफ पुलिस एवं सीएचसी प्रभारी को लिखित शिकायत दी है। परिजनों की शिकायत के बाद स्वास्थ विभाग की टीम में एवं पुलिस ने अस्पताल को सील कर दिया और आगे की जांच में जुट गयी है

झोलाछाप पर होगी कार्यवाही

स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक से इस संबंध में जब बात की गई तो उन्होंने बताया कस्बे में झोलाछाप के द्वारा ऑपरेशन किए जाने और नवजात की मौत की शिकायत प्राप्त हुई थी। जिसके बाद इस अवैध अस्पताल पर छापा मारकर कार्रवाई की गई। वहां मिले स्टाफ से संबंधित कागज दिखाने के लिए कहा।अस्पताल में कोई भी चिकित्सक, सर्जन मौजूद नहीं था। अस्पताल में सीलिंग की कार्रवाई की गई है।

इंटर पास निकला झोलाछाप

छापा मारकर सील किए गए माँ वैष्णवी अस्पताल में बोर्ड पर डॉ अजीत बघेल बीएएमएस जबकि संतोष कुमार एमडी लिखा था। जब जाँच टीम ने अस्पताल में मौजूद संतोष कुमार से डिग्री दिखाने को कहा तो वह अपने आप को इंटर पास बताने लगा जबकि अजीत अस्पताल में ही नहीं।