अखिलेश के करीबी विधायक की तलाश में 100 पुलिसवाले

पड़ोसी महिला की झोपड़ी जलाने के मामले में सपा विधायक इरफान सोलंकी के खिलाफ ताबड़तोड़ छापेमारी जारी है। दरअसल, फोरेंसिक रिपोर्ट में पुष्टि हुई है कि झोपड़ी को ज्वलन शील पदार्थ से जलाया गया था। जिसके चलते इरफान और उनके भाई के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी हो गया है।

सपा विधायक की तलाश में घर से लेकर पार्टी कार्यालय लखनऊ और नजीकियों के यहां सिविल ड्रेस में पुलिस ने अपना जाल बिछा रखा है। इसके अलावा पुलिस की पांच टीमें (करीब 38 पुलिसवाले) को प्रदेश के बाहर भेजा गया है। अगर सपा विधायक सिलेंडर नहीं करते हैं तो पुलिस कुर्की कार्रवाई करेगी।

ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी ने बताया कि FIR होने के बाद भी विधायक इरफान सोलंकी और उनका भाई रिजवान फरार चल रहे हैं। दोनों की तलाश में पुलिस की पांच टीमें लखनऊ, राजस्थान और उन्नाव समेत कई ठिकानों पर छापेमारी कर रही हैं। विधायक के नजदीकियों के यहां तलाश की जा रही है।

कुर्की की तैयारी कर रही पुलिस

विधायक इरफान सोलंकी और उनके भाई रिजवान के खिलाफ एनबीडब्ल्यू जारी होने के बाद पुलिस अब कुर्की की तैयारी कर रही है। अगर विधायक और उनके भाई ने सरेंडर नहीं किया तो पुलिस कुर्की की कार्रवाई करेगी। सख्ती के बाद भी विधायक सामने नहीं आ रहे हैं।

घर से लेकर लखनऊ में सादे वर्दी में लगी पुलिस

एक विधायक की गिरफ्तारी के लिए पूरा कानपुर पुलिस कमिश्नरेट अपनी ताकत झोंके हुए है। घर से लेकर पार्टी कार्यालय लखनऊ और नजीकियों के यहां सिविल ड्रेस में पुलिस ने अपना जाल बिछा रखा है। अगर इरफान सोलंकी अब लखनऊ में सपा प्रमुख अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे तो वहां से फौरन गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

फोरेंसिक जांच में आग लगाने की बात
जाजमऊ डिफेंस कॉलोनी निवासी इरफान की पड़ोसी महिला बेबीनाज ने आरोप लगाया था कि 7 नवंबर को कब्जे की नीयत से विधायक और उनके भाई रिजवान ने उनका घर फूंक दिया। वह परिवार समेत एक शादी समारोह में गईं थी।

इसी का फायदा उठाकर विधायक और उनके भाई ने वारदात को अंजाम दिया। मामले में जाजमऊ पुलिस ने विधायक इरफान सोलंकी और उनके भाई के खिलाफ घर फूंकने, मारपीट, धमकी समेत अन्य गंभीर धाराओं में FIR दर्ज की थी। इसके बाद विधायक की गिरफ्तारी के लिए घर पर 15 थानों की फोर्स ने छापा मारा था। विधायक मौके से भाग निकले थे।
पुलिस कमिश्नर बीपी जोगदंड के आदेश पर जले हुए घर की जांच करने फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम भी गई थी। घंटों जांच-पड़ताल करने के साथ ही मौके से साक्ष्य जुटाए थे। फोरेंसिक टीम प्रभारी प्रवीण श्रीवास्तव ने बुधवार को जांच रिपोर्ट जाजमऊ थाने को सौंप दी। रिपोर्ट के मुताबिक, घर में आग लगाने के लिए ज्वलनशील पदार्थ का इस्तेमाल किया गया है। इसके साथ ही अन्य साक्ष्य भी मिले हैं।

विधायक की तलाश में छापेमारी तेज
पुलिस कमिश्नर बीपी जोगदंड ने बताया कि विधायक इरफान सोलंकी और उनका भाई एफआईआर दर्ज होने के बाद से फरार हैं। पुलिस ने सर्विलांस की मदद से राजस्थान में लोकेशन मिलने के बाद वहां भी छापेमारी की, लेकिन विधायक और उनका भाई हाथ नहीं लगे। फोरेंसिक रिपोर्ट आने के बाद से एक बार फिर विधायक और उनके भाई की गिरफ्तारी को तलाश तेज कर दी है।

विधायक के बचाव में आया था विधायकों का दल

विधायक के बचाव में विधायकों का एक दल पुलिस कमिश्नर से मिलने पहुंचा था। इसके साथ ही इरफान के परिवार से भी मिला था। इसमें मुख्य सचेतक विधानसभा डॉ. मनोज पांडेय के अलावा अन्य नौ विधायक व निवर्तमान महानगर अध्यक्ष सपा ने घर पहुंचकर मामले की जांच की।

इसके बाद पुलिस कमिश्नर बीपी जोगदंड से जांच के बाद कार्रवाई की मांग की थी। सपा विधायकों के प्रतिनिधि मंडल ने विधायक की पत्नी नसीम, मां खुर्शीदा बेगम, बेटे मुस्तफा और दोनों बेटियों से बातचीत की और न्याय का भरोसा दिलाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.