दल—बदल से बनेगी बात ?

उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव का समय जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे राजनीतिक गतिविधियां भी तेज होती जा रही हैं। बताते चले कि उत्तराखंड राज्य बनने के बाद से ही प्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस की हुकूमत रही है। ऐसे में अब चुनाव नजदीक आते ही दोनों पार्टियों में दल-बदल का दौर शुरू हो चुका है। आपको बता दे की हालांहि में ही धनोल्टी के निर्दलीय विधायक प्रीतम सिंह पंवार ने भाजपा का दामन थामन, तो वही अब पुरोला सीट से कांग्रेस विधायक राजकुमार भी बीजेपी में शामिल हो गए है। दूसरी और रायपुर विधानसभा से बीजेपी और संघ से जुड़े नेता महेंद्र नेगी ने भी हालहि में कांग्रेस ज्वाइन की । जिसके बाद रविवार को महेन्द्र नेगी रायपुर विधानसभा क्षेत्र से बड़ी संख्या में युवाओं को कांग्रेस में शामिल किया, लेकिन अब दल-बदल के इस दौर में पक्ष और विपक्ष के बीच बयानबाजी भी लगातार देखने को मिल रही है,

2022 विधानसभा चुनाव के लिए अब सिर्फ 4 महीने का वक्त ही बाकी रह गया है। ऐसे में बात करें कांग्रेस की तो सत्ता में काबिज होने के लिए कांग्रेस कई बड़े दावे तो कर रही है, लेकिन इन सबके बीच पुरोला सीट से कांग्रेस विधायक राजकुमार का बीजेपी में शामिल होना कांग्रेस के दावों को कमजोर करता दिखाई दे रहा है। जिससे कि कांग्रेस को एक बड़ा झटका लग चुका है। वही सूत्रों के माने तो कांग्रेस के दो पूर्व विधायक भी बीजेपी में जल्द ही शामिल होने की बात भी सामने आ रही है। जिसको लेकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल का कहना है कि बीजेपी अफवाहों की राजनीति कर रही है। उनका कहना है कि बीजेपी के भी कई बड़े चेहरे आज हमारे संपर्क में है जिनका नाम समय से पहले उजागर नहीं किया जा सकता।



 एक और जहां कांग्रेस से विधायक राजकुमार ने बीजेपी का दामन थामा है तो वहीं दूसरी और कांग्रेस भी बीजेपी के कई बड़े चेहरे पार्टी में शामिल होने की बात कर रही है। जिसपर बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता शादाब शम्स का कांग्रेस पार्टी पर तंज कसते हुए कहना है कि जो चेहरे संपर्क में होते है उनके बारे में बताया नही जाता, बल्कि उन चेहरों की घोषणा की जाती है।



 चुनाव नजदीक आते ही बीजेपी और कांग्रेस के बीच विधायकों और नेताओं की उथल-पुथल साफ तौर पर देखने को मिल रही है। ऐसे में तीसरी विकल्प के रूप में सामने आई आम आदमी पार्टी ने भी दोनों ही पार्टियों की उठा-पठक पर चुटकी लेना शुरू कर दिया है। आप पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता नवीन पीरशाली का कहना है कि आज कांग्रेस मित्र विपक्ष की भूमिका से मृत विपक्ष की भूमिका में आ चुकी है और बीजेपी विपरीत दृष्टिकोण के लोगो का पार्टी में शामिल करके आत्महत्या करने का काम कर रही है जिसके चलते आज कार्यकर्ता दोनो ही पार्टियों की राजनीति से त्रस्त होकर जल्द ही आम आदमी पार्टी को ज्वाइन करेंगे।



भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों के बीच इस समय विधायकों और नेताओं के आने-जाने का सिलसिला जारी है। दोनों ही पार्टियां कई बड़े चेहरे शामिल होने की बात भी कर रही है, अब देखना यह है कि जिन बड़े चेहरों की बात बीजेपी और कांग्रेस कर रही है वह 2022 के विधानसभा चुनाव में कितने महत्वपूर्ण और सफल साबित हो पाते हैं।