नही रहे कांग्रेस के दिग्गज नेता ऑस्कर फर्नांडीस

सिर पर चोट लगने के बाद अस्पताल में भर्ती हुए कांग्रेस के दिग्गज नेता ऑस्कर फर्नांडीस का सोमवार को कर्नाटक में 80 वर्ष की आयु में निधन हो गया। “सभी मौसमों के लिए एक  व्यक्ति”के रूप में जाने  वाले, अनुभवी कांग्रेस नेता ने उत्तर-पूर्वी विद्रोहियों, सरकार और पार्टी के मामलों का समाना आसानी से और मुश्किल बातचीत को आसानी से संभाला है।

येनेपॉय अस्पताल में थे भर्ती

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के भरोसेमंद सहयोगी माने जाने वाले 80 वर्षीय फर्नांडिस को सर पर चोट लगने के कारण मंगलुरु के येनेपॉय अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहॉ पर उनको निधन हो गया।

फर्नांडिस का कार्यकाल

फर्नांडिस ने पहली यूपीए सरकार में परिवहन, सड़क और राजमार्ग और श्रम और रोजगार मंत्री के रूप में कार्य किया था। वह अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष भी थे। वह पहले एआईसीसी महासचिव थे। कांग्रेस नेता राहुल गांधी के करीबी माने जाने वाले फर्नांडीस ने राजीव गांधी के संसदीय सचिव के रूप में भी काम किया। ऑस्कर फर्नांडीस 1980 में कर्नाटक के उडुपी निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा के लिए चुने गए थे। वह उसी निर्वाचन क्षेत्र से 1984, 1989, 1991 और 1996 में लोकसभा के लिए फिर से चुने गए थे। 1998 में, फर्नांडीस राज्यसभा के लिए चुने गए और 2004 में उच्च सदन के लिए फिर से चुने गए थे।