यह बिजनेस शुरू कर कमा सकतें हैं लाखों रूपये महीना,जानें कौन सी चीजें दिलवा सकती हैं सफलता

बिज़नेस न्यूज-अपनी नौकरी से ऊब चुके हैं ,कुछ नया करने की सोच रहे हैं  तो यकीन मानिये ये खबर और जानकारी आप के लिए है,कम इन्वेस्टमेंट में ज्यादा प्रॉफिट जी हां ये सपना हर बिजनेस मैन का होता है और इसी सपने के साथ हर बिजनेस की शुरुआत की जाती है ,अपनी खबर में हम आपको एक ऐसा बिजनेस आइडिया दे रहे हैं जिससे बिजनेस मैन का कम इन्वेस्टमेंट में ज्यादा प्रॉफिट वाला सपना साकार हो सकता है.  हम आपको एक ऐसे फूड प्रोडक्ट के बारे में बता रहे हैं जिसके बिजनेस से आप आसानी से हर महीने लाखों कमा सकते हैं। जी हाँ हम बात कर रहे हैं मुरमुरा मेकिंग बिजनेस की

यकीन मानिए ये बिजनेस बहुत कम इन्वेस्टमेंट में  बहुत ज्यादा प्रॉफिट देता है मुरमुरा या लाई का व्यापर ऐसा व्यापर है जिसमें नुकसान की संभावना कम रहती है । ।पश्चिम बंगाल, बिहार और झारखंड में मुरमुरा यानी लाई को जल मूर्ति के रूप में प्राथमिकता दी जाती है। इसी तरह मुरमुरे को अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग रेसिपी से तैयार किया जाता है।

मुंबई में इसे भेलपुरी के रूप में और बैंगलोर में चुरमुरी के रूप में खाया जाता है। खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (KVIC) ने ग्रामोद्योग रोजगार योजना के तहत मुरमुरा निर्माण इकाई की स्थापना पर एक परियोजना रिपोर्ट तैयार की है। इस प्रोजेक्ट रिपोर्ट के मुताबिक इस बिजनेस को शुरू करने में कुल 3.50 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। अगर आपके पास इस बिजनेस को शुरू करने के लिए पैसे नहीं हैं तो आप प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना के तहत लोन ले सकते हैं बिज़नेस न्यूज आप इस परियोजना लागत के आधार पर ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं। मुरमुरा यानि लाइ की खपत देश के कोने-कोने में होती है। इसका उपयोग मंदिर में प्रसाद के रूप में भी किया जाता है। इस मुरमुरे का प्रयोग वैष्णो देवी के प्रसाद में भी किया जाता है। इतना ही नहीं इसका इस्तेमाल स्ट्रीट फूड के तौर पर भी किया जाता है। मुरमुरा बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला मुख्य कच्चा माल धान या चावल है। ये कच्चा माल आपके नजदीकी शहर या गांव में आसानी से मिल जाएगा। आप इसे अपने नजदीकी धान बाजार से थोक दरों पर भी खरीद सकते हैं। धान की गुणवत्ता जितनी अच्छी होगी, आपके मुरमुरे भी उतने ही अच्छे होंगे। मुरमुरा या लाई बनाना खाद्य पदार्थों के अंतर्गत आता है। तो आपको इसके लिए फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) से फूड लाइसेंस लेना होगा। इसके अलावा आप अपने बिजनेस के लिए एक नाम भी चुन सकते हैं। उसी नाम से बिजनेस रजिस्ट्रेशन और जीएसटी रजिस्ट्रेशन भी कराना होगा। आप पैकेट पर अपनी कंपनी के ब्रांड नाम का लोगो भी छपवा सकते हैं। मुरमुरा या लाई बनाने में 10 से 20 रुपये प्रति किलो का खर्च आता है। खुदरा विक्रेता इसे 40-45 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बेचते हैं। आप इसे 30-35 रुपये प्रति किलो के थोक भाव से बेच सकते हैं। आप इसे रिटेल में बेचकर अच्छा पैसा कमा सकते हैं। कुल मिलाकर आप इस होम बिजनेस से लाखों कमा सकते हैं।