उमड़ पड़ी है श्रद्धालुओ की भीड़ ,आज से शुरू जगन्नाथ रथ यात्रा

 

बीते कुछ समय पहले से ही प्रदेश भर में जगन्नाथ रथयात्रा की तैयारियां शुरू हो गई है और आज यानी 1 जुलाई से इस यात्रा का शुभारंभ प्रातः 11 बजे से होगा । आज भगवान जगन्नाथ अपनी बहन सुभद्रा और भी बलराम के साथ रथों में सवार होकर गुंडीचा मंदिर की और प्रस्थान कर रहे है । यह रथ यात्रा 1 जुलाई से शुरू होकर 12 जुलाई तक चलेगी । भगवान जगन्नाथ रथ यात्रा भारत में मनाए जाने वाले धार्मिक महामहोत्सव में सबसे प्रमुख और धार्मिक दृष्टि से सबसे महत्वपूर्ण मन गया है।
इस यात्रा भारत में ही नहीं बल्कि विदेश में मन से मनाई जाती है जहां भारतीय लोग निवास करते है।
जगन्नाथ रथ यात्रा हिंदू धर्म में बहुत ही पावन दिन माना जाता है। पूरी में यह यात्रा बड़ी धूमधाम से निकाली जाती है। हिंदू पंचांग के अनुसार हर साल पुरी में जगन्नाथ यात्रा आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को निकाली जाती है। इस बार जगन्नाथ यात्रा 1 जुलाई को निकाली जाएगी। यह यात्रा केवल भारत में ही नहीं बल्कि कई देशों में भी निकाला जाती हैं। ऐसी मान्यता है, कि इस दिन भगवान जगन्नाथ, बलभद्र जी और सुभद्रा माई के साथ अपनी मौसी के घर जाते।
 
रथ यात्रा का धार्मिक एवं सांस्कृतिक महत्व

इस यात्रा का धार्मिक एवं सांस्कृतिक दोनों महत्व है. धार्मिक दृष्टि से देखा जाए तो पुरी यात्रा भगवान जगन्नाथ को समर्पित है जो कि भगवान विष्णु के अवतार माने जाते हैं. हिन्दू धर्म की आस्था का मुख्य केन्द्र होने के कारण इस यात्रा का महत्व और भी बढ़ जाता है. कहते हैं कि जो कोई भक्त सच्चे मन से और पूरी श्रद्धा के साथ इस यात्रा में शामिल होते हैं तो उन्हें मरणोपरांत मोक्ष प्राप्त होता है। .