Twitter पर कब्जा नहीं कर पाएंगे Elon Musk! माइक्रो ब्लागिंग साइट ने उतारा ये हथियार 

स्पेसएक्स के संस्थापक और टेस्ला के सीईओ एलन मस्क इन दिनों ट्विटर खरीदने को लेकर चर्चा में हैं। ट्विटर और एलन मस्क इस बीच में कोल्ड वॉर भी शुरू हो गया है। जहां एक तरफ मस्क ट्विटर पर कब्जा करने में लगें हैं, वहीं दूसरी तरफ ट्विटर का बोर्ड उन्हें रोकने के लिए अपने अंतिम विकल्प तक आ गया है। एलन मस्क को ट्विटर पर जबरन टेकओवर से रोकने के लिए ट्विटर के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर ने एक नया प्लान बनाया है। ट्विटर ने कंपनी को बचाने के लिए ‘पॉइजन पिल’ (Poison pill) का तरीका अपनाया है।

दरअसल, ट्विटर के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने Poison pill नाम की एक सीमित समय वाले शेयरहोल्डर राइट्स प्लान को अपनाया है। Poison pill स्ट्रेटेजी के तहत एलन मस्क के लिए ट्विटर को टेकओवर करना मुश्किल हो सकता है।

पॉइजन पिल कैसे करेगा काम

पॉइजन पिल’ एक सीमित अवधि की शेयरधारक अधिकार योजना है जो किसी को कंपनी में 15 प्रतिशत से अधिक की हिस्सेदारी खरीदने से रोकती है। इसमें कंपनी कुछ छूट के साथ दूसरों को कंपनी के अतिरिक्त शेयर खरीदने की अनुमति दे देती है। इससे टेकओवर करने की कोशिश करनेवाले के शेयरों की कीमत कम हो जाती है और टेकओवर करना मुश्किल हो जाता है। इतना ही नहीं कंपनी का टेकओवर भी करना काफी महंगा हो जाता है। यानी कीमत और ज्यादा बढ़ जाती है।

एलन मस्क के पास 9% शेयर 

शेयरधारकों का ये राइट्स प्लान तभी लागू हो जाएगा जब कोई व्यक्ति, ग्रुप या संस्था ट्विटर के आउटस्टैंडिंग कॉमन स्टॉक्स के 15% शेयर खरीदने की कोशिश करेगा। अभी एलन मस्क के पास 9% शेयर हैं। बता दें कि एलन मस्क ने पहले ही ये साफ कर दिया है कि वो कंपनी के लिए इससे ऊंची कीमत पर बात नहीं करेंगे। इसके बाद बोर्ड ने ‘पॉइजन पिल’ का तरीक़ा अपना लिया है।