शिवपाल यादव ने अपनी प्रसपा की सभी प्रादेशिक और राष्ट्रीय कमेटियों को किया भंग, बीजेपी में शामिल होने की अटकले तेज़ !

लखनऊ: यूपी की सियासत के बड़े नाम मुलायम सिंह के भाई और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने अपनी पार्टी को लेकर बड़ा एलान किया है, उन्होंने शुक्रवार को प्रसपा की सभी प्रादेशिक और राष्ट्रीय कमेटियां भंग कर दी हैं। इसे शिवपाल यादव के अगले राजनीतिक कदम की शुरुआत के तौर पर देखा जा रहा है. शिवपाल ने पिछले दिनों कहा था कि वह ‘उचित समय’ जल्द आने वाला है, जिसका सबको इंतजार है।

बात दे की, पार्टी के महासचिव और शिवपाल यादव के बेटे आदित्य यादव की ओर से जारी आदेश में कहा गया है, ‘प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष (शिवपाल यादव) के निर्देशानुसार प्रदेश कार्यकारिणी एवं राष्ट्रीय/प्रादेशिक प्रकोष्ठों की कार्यकारिणी अध्यक्ष सहित संपूर्ण प्रवक्ता मंडल (कार्यवाहक मुख्य प्रवक्ता सहित) को तत्काल प्रभाव से भंग किया जाता है.’

दरअसल हाल में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में भतीजे अखिलेश यादव से कड़वाहट भुलाकर समाजवादी पार्टी से गठबंधन करने वाले शिवपाल यादव के भाजपा में जाने की अटकलें हैं. महज एक सीट मिलने को लेकर चुनाव के बीच ही अपना दर्द जाहिर करने वाले शिवपाल कह चुके हैं कि वजह जल्द फैसला लेंगे. सपा के टिकट पर जसवंतनगर सीट से विधायक बने शिवपाल को भतीजे अखिलेश ने कोई बड़ी जिम्मेदारी देने से इनकार कर दिया था.

सीएम योगी से मुलाकात के क्या है मायने-
सपा विधानमंडल दल की बैठक में नहीं बुलाए जाने से नाराज शिवपाल यादव ने दिल्ली जाकर बड़े भाई मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की थी. दिल्लीश में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव से मुलाकात करने के बाद वह अगले दिन लखनऊ पहुंचे और फिर समाजवादी पार्टी के विधायकों के साथ शपथ लेने के बजाए अगले दिन विधानसभा में अकेले शपथ ली. इसके बाद शिवपाल ने उसी दिन शाम को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से करीब 20 मिनट मुलाकात की थी.