CM शिवराज का खरगोन हिंसा पर बड़ा बयान, कहा- जले हुए मकानों को फिर से बनवाएगी सरकार

रामनवमी समारोह के दौरान खरगोन हिंसा के बाद बाबा साहेब आंबेडकर की 131वीं जयंती पर शिवराज सिंह चौहान ने महू कस्बे में एक सभा को संबोधित करते हुए चेतावनी भरे शब्दों में कहा कि, उनकी सरकार दंगों में लिप्त पाए गए किसी व्यक्ति को नहीं बख्शेगी। साथ ही उन्होंने खरगोन में हुई हिंसा में कथित तौर से शामिल लोगों के ‘अवैध ढांचों’ को गिराने की कार्रवाई को भी उचित ठहराया।

शिवराज सिंह चौहान ने संबोधित करते हुए सवाल किया, ‘‘खरगोन में दंगाइयों द्वारा अनुसूचित जाति समुदाय के लोगों के घरों में आग लगा दी गई थी. ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की जानी चाहिए? कुछ लोग राज्य में दंगा फैलाने की साजिश कर रहे हैं.

वे प्रदेश को आग लगाना चाहते हैं, मैं लोगों से शांति और सद्भाव बनाए रखने की अपील करता हूं. लेकिन इसके बाद भी लोग शंति नहीं बना कर रखेंगें और दंगा करेगें तो मामा  छोड़ेगा नहीं फिर दंगाइयों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई जारी रहेगी.’’

माफियाओं की जमीन गरीबों में बांटी जाएगी-
सीएम के मुताबिक उनकी सरकार ने बुलडोजर की मदद से प्रदेश में 21 हजार एकड़ जमीन माफियाओं से मुक्त कराई है। उन्होंने घोषणा की, ‘‘यह जमीन गरीबों में बांटी जाएगी.’’साथ ही शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि, डॉक्टर आंबेडकर से जुड़े पांच स्थानों को ‘पंच तीर्थ’के रुप में विकसित किया है।

उन्होंने कहा, ‘‘आज, मैंने इन पंच तीर्थों- महू, नागपुर (दीक्षा भूमि), दिल्ली, मुंबई और लंदन को भी मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना में शामिल करने का फैसला किया है.’’