बदनामी नहीं हुई बर्दाश्त तो बहन की गला रेतकर कर दी थी हत्या

बागपत: किशोरी तन्नुम की गला रेतकर हत्या करने के मामले में पुलिस ने आरोपित भाई को गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त चाकू (छुरा) मकान में बैड के नीचे से बरामद किया। पुलिस पूछताछ में आरोपित मोनिस ने बताया कि बहन बगैर बताए अपने प्रेमी के घर चली जाती थी। इससे उनकी बदनामी हो रही थी। इसी के चलते उसने वारदात को अंजाम दिया है।

यह था पूरा मामला

ग्राम तिलपनी निवासी 17 वर्षीय तरन्नुम की बुधवार देर शाम बड़े भाई मोनिस खान ने घर पर चाकू से गर्दन रेतकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल कर किशोरी के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के मर्चरी भेजा था। किशोरी के मामा आकिल ने आरोपित मोनिस खान के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।

क्या था मामला

सिंघावली अहीर थाना प्रभारी दीक्षित कुमार त्यागी का कहना है कि आरोपित मोनिस खान को रात करीब 11.45 बजे बड़ौत-अमीनगर सराय रोड पर ग्राम तिलपनी के गेट के पास से गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में आरोपित मोनिस ने अपनी बहन की हत्या करना स्वीकार किया। अवगत कराया किया बहन तरन्नुम का रिश्ते के मामा जाकिर निवासी ग्राम बरसिया के साथ पिछले करीब दो माह से प्रेम प्रसंग चल रहा था। जो आए दिन बगैर बताए घर से जाकिर के घर चली जाती थी। इसको लेकर आस-पास के लोग फब्तियां कसते थे। इससे वह नाराज था। बुधवार सुबह तन्नुम पुन: जाकिर के घर चली गई थी। चाचा साहिब तन्नुम को वहां से लेकर घर आ गए थे। गुस्से में उसने शाम 7.45 बजे मकान में सीढ़ियों (जीने) से तरन्नुम को धक्का दिया। इससे तरन्नुत आंगन में गिरी। घर में रखे छुरे से तन्नुम के गले से प्रहार किया था।

मोनिस खान चाकू लेकर खुद पहुंचा थाने

घटना के बाद मानिस खान मकान से फरार हो गया था। ग्रामीणों की माने तो माेनिस खान चाकू लेकर खुद ही सिंघावली अहीर थाने पहुंचा। हालांकि थाना प्रभारी दीक्षित कुमार त्यागी ने इससे इंकार किया है।