महंगाई पर बोले केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, कहा- महंगाई अंतरराष्ट्रीय समस्या है। रूस और यूक्रेन के बीच चल रहा युद्ध भी एक कारण है

महंगाई के मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बुधवार को बड़ा बयान दिया है, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि, महंगाई अंतरराष्ट्रीय समस्या है। रूस और यूक्रेन के बीच चल रहा युद्ध भी एक कारण है. बावजूद इसके हमारी सरकार ने महंगाई पर बहुत कंट्रोल किया है। खासकर खाने के तेल की कीमतें बढ़ी हैं. लेकिन इसे ठीक कर लिया जाएगा।

पीयूष गोयल ने कहा, ‘कोविड महामारी के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक चट्टान की तरह देशवासियों का साथ दिया.” उन्होंने कहा, “कोरोना काल में करीब 80 करोड़ भारतीयों को फ्री राशन देने का काम पीएम मोदी ने किया है. वन नेशन वन कार्ड के तहत देशभर में गरीबों को राशन दिया गया.“

25 महीने के अंतराल 80 करोड़ लोगों को मिला अन्न-
केंद्रीय मंत्री ने कहा, “लगभग 25 महीने के अंतराल 80 करोड़ लोगों को 5 किलो अन्न देने का काम किया गया, 1 हजार लाख टन अनाज फ्री पहुंचाया गया. ये नेशनल फूड सिक्योरिटी के अंतर्गत जो काम किया गया उससे अलग है.” उन्होंने कहा कि यह कल्पना प्रधानमंत्री जी की थी कि हर घर तक अनाज पहुंचे।

पीयूष गोयल ने कहा, “कोविड महामारी के दौरान लगता था कि भारत कैसे अपने लोगों का ध्यान दे पाएगा, लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी ने सबका ध्यान दिया, खासकर प्रवासी भाई बहनों का पूरा ख्याल रखा गया.”

प्रधानमंत्री के कार्यों को अंतरराष्ट्रीय पटल पर भी सराहना मिली है- केंद्रीय मंत्री
केंद्रीय मंत्री ने कहा, “प्रधानमंत्री के कार्यों को अंतरराष्ट्रीय पटल पर भी सराहना मिली है. अभी IMF ने भारत की पूरी स्थिति का आंकलन करते हुए बताया है कि जो मुफ्त में खाद्यान्न दिया गया है चाहे वो NFSA के अंतर्गत हो या गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत दिया गया खाद्यान्न. इन दोनों का भारत में बहुत बड़ा प्रभाव पड़ा. जिसके कारण भारत में गरीबी और असमानता कम हुई.”