खरगोन हिंसा के आरोपीयों के घरों के तोड़ने पर बोले ओवैसी, कहा- मध्यप्रदेश की सरकार रूसी सेना की तरह व्यवहार कर रही है

नई दिल्ली: मध्यप्रदेश के खरगौन में हुई हिंसा के मामले में जिला प्रशासन की कार्यवाही की लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी  ने आलोचना की है। प्रशासन ने कार्यवाही करते हुए हमले में शामिल लोगों के घरों को तोड़ रहा है। इस पर असदुद्दीन ओवैसी ने मध्यप्रदेश सरकार पर निशाना साधा हुए सरकार की कार्रवाई को पूरी तरह से अवैध बताया। उन्होंने कहा कि, न्याय के सामान्य प्रक्रिया का भी पालन नहीं किया गया. यह पूरी तरह से गलत है।

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि, मध्यप्रदेश की सरकार रूसी सेना की तरह व्यवहार कर रही है, जैसे कि रूसी सेना यूक्रेन में घरों को नष्ट कर रही है. उन्होंने कहा कि घरों को क्यों तोड़ रहे हैं। परिवार बेसहारा हो जाएंगे। सरकार की इस कार्रवाई को लेकर निश्चय ही अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे।

क्या था मामला-

बता दें कि एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर जिला प्रशासन और पुलिस ने रामनवमी के जुलूस पर हुए हमले में शामिल लोगों के घरों को तोड़ दिया है. अधिकारियों ने करीब 45 घरों और दुकानों पर बुलडोजर चलाया. सोमवार को करीब 16 घरों और 29 दुकानों को तोड़ा गया।