योगी मंत्रिमंडल में पूर्व उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा को नहीं मिली जगह, आज बोले मन की बात

लखनऊ: 2017 विधानसभा में जीत के बाद प्रदेश में दूसरे उपमुख्यमंत्री के तौर पर दिनेश शर्मा ने शपथ ली थी, लेकिन इस बार बीजेपी ने जीत के बाद दिनेश शर्मा को पद से हटा दिया गया है। इस सब के बीच शुक्रवार को यूपी के पूर्व उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि, वह वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी (BJP) को मजबूत बनाने के लिए पूरे समर्पण के साथ काम करना जारी रखेंगे।

योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली पहली सरकार में उप मुख्यमंत्री रहे दिनेश शर्मा को योगी की ही अगुवाई वाली दूसरी सरकार के मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली है. दिनेश शर्मा की जगह बीजेपी के नेतृत्व वाली नई राज्य सरकार में एक अन्य ब्राह्मण नेता ब्रजेश पाठक को उपमुख्यमंत्री बनाया गया है।

शपथ लेने वाले नए मंत्रियों को दी बधाई-

उन्होंने शपथ लेने वाले नए मंत्रियों को बधाई और कामना की, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की डबल इंजन सरकार राज्य के लोगों के लिए काम करना जारी रखे.” शर्मा ने  कहा, “मैं पार्टी के लिए काम करता रहूंगा और इसे मजबूत करता रहूंगा. एक पार्टी कार्यकर्ता के रूप में मैं यह सुनिश्चित करने के लिए काम करूंगा कि, बीजेपी 2024 के लोकसभा चुनाव में विजयी हो.”

इस बार चुनाव नहीं लडे थे दिनेश शर्मा-

दिनेश शर्मा (58) ने इससे पहले लखनऊ के मेयर के रूप में कार्य किया था. उन्होंने हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनाव नहीं लड़ा था. वह वर्तमान में राज्य विधान परिषद के सदस्य हैं। इस बार भी यूपी में दो डिप्टी सीएम बनाए गए हैं. लेकिन इसमें बड़ी बात यह रही कि केशव प्रसाद मौर्या हार के बाद भी एक बार फिर उपमुख्यमंत्री बना दिए गए. वहीं दूसरे डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा की जगह ब्रजेश पाठक को बनाया गया है।