उत्तराखंड में एक बार फिर पुष्कर राज, सतपाल महाराज से लेकर गणेश जोशी तक, ये नेता बने कैबिनेट मंत्री

उत्तराखंड: पुष्कर सिंह धामी ने इतिहास रचते हुए बुधवार को दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. उनके साथ 8 नेताओं ने कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ ली. देहरादून के परेड ग्राउंड में हुए शपथ ग्रहण समारोह में पीएम नरेंद्र मोदी, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ समेत कई बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हुए.

पुष्कर सिंह धामी के साथ न मंत्रियों ने ली शपथ

  • गणेश जोशी
  • रेखा आर्य
  • सुबोध उनियाल
  • प्रेमचंद अग्रवाल
  • सौरभ बहुगुणा
  • सतपाल महाराज
  • धन सिंह रावत
  • चंदन रामदास

उत्तराखंड की नई कैबिनेट में सभी कैबिनेट मंत्री ही होंगे. कोई राज्यमंत्री नहीं होगा. बता दें कि पुष्कर सिंह धामी लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री बने हैं. वह सूबे के 12वें सीएम हैं. इससे पहले जुलाई 2021 में तीरथ सिंह रावत के इस्तीफे के बाद बीजेपी ने पुष्कर सिंह धामी को राज्य की कमान सौंपी थी. सोमवार शाम बीजेपी प्रदेश मुख्यालय में पर्यवेक्षक और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सह पर्यवेक्षक और विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी की मौजूदगी में हुई बीजेपी विधायक दल की बैठक में पुष्कर सिंह धामी को सर्वसम्मति से उसका नेता चुना गया था.

बीजेपी के कामों को ज्यादा से ज्यादा जनता तक पहुंचाया

 

चुनाव से 8 महीने पहले जब पुष्कर सिंह धामी को कमान मिली तब बीजेपी उत्तराखंड में दो मुख्यमंत्री बदलने के लिए आलोचना झेल रही थी. पूर्व सीएम तीरथ सिंह रावत के विवादास्पद बयान भी पार्टी के लिए मुश्किलें पैदा कर रहे थे. ऐसे में पुष्कर सिंह धामी ने विवादित बयानों से बचते हुए जनता के बीच बीजेपी के कामों को ज्यादा से ज्यादा पहुंचाया.

कोविड के चलते पटरी से उतरी अर्थव्यवस्था

कोविड के चलते पटरी से उतरी अर्थव्यवस्था, तीर्थ पुरोहितों का चारधाम बोर्ड को लेकर आंदोलन और कोविड फर्जी जांच घोटाला जैसी चुनौतियां भी उनके सामने थीं. उन्होंने कई आर्थिक पैकेजों की घोषणा और चारधाम बोर्ड भंग कर जीत हासिल की और ऐन विधानसभा चुनाव से पहले विपक्ष के हाथ से मुददे छीन लिए. युवा नेता होने के साथ-साथ साफ छवि का फायदा भी उन्हें मिला.